Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

बॉलीवुड

इस शख्स को दिल दे बैठी थीं Asha Parekh, मगर क्यों लिया था सिंगल रहने का फैसला

asha parekh
asha parekh

Dadasaheb Phalke Award 2022: बॉलीवुड की महान अदाकारा आखा पारेख (Asha Parekh) को दादा साहब फाल्के अवार्ड से नवाजा जाएगा. 30 सितंबर को दिल्ली में उन्हें सम्मानित किया जाएगा. इस बात की जानकारी केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur) ने दी है. आशा पारेश अपने जमाने की फेमस अदाकाराओं में से एक हैं. अपने फिल्मी करियर में उन्होंने एक के बाद एक हिट फिल्में देकर ऑडियंस का दिल जीता है. उनके अभियन और खूबसूरती का तो हर कोई दीवाना रहा है. आगामी 2 अक्टूबर का आशा 80 साल की हो जाएंगी. इस आर्टिकल में जानेंगे कि आखिर प्यार में रहने के बावजूद भी आशा पारेश ने आजीवन सिंगल रहने का फैसला क्यों लिया.

खबर में खास

ये भी शादी न करने की मुख्य वजह
ये भी शादी न करने की मुख्य वजह
बेस्ट एक्ट्रेस का मिला था अवार्ड
चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर करियर की शुरूआत

ये थी शादी न करने की मुख्य वजह
साल 2017 में आई अपनी बायोग्राफी में उन्होंने कई खुलासे किए थे. उन्होंने बताया कि वो जिस शख्स से प्यार करती थीं, वो शादीशुदा थे. आशा ने अपनी जिंदगी के इस अहम और इमोशनल किस्से का जिक्र अपनी बायोग्राफी हिट गर्ल में किया था. उन्होंने बताया था कि वो फिल्ममेकर नासिर हुसैन से प्यार करती थीं, मगर वो शादीशुदा थे, जिसके बाद उन्होंने नासिर से दूरी बना ली. उनसे शादी करके वो घर तोड़ने वाली औरत नहीं कहलाना चाहती थीं. इसलिए उनके पास केवल यही विकल्प बचा कि वो आजीवन सिंगल रहें.

फिल्म ‘तीसरी मंजिल’ से चमकी थीं आशा
साल 1959 से लेकर 1973 आशा पारेख बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्री रहीं हैं. उन्होंने करीब बॉलीवुड की 80 फिल्मों में काम किया है. आशा की पहली फिल्म दिल देके देखो था, जो काफी सफल हुई थी. उनकी कई फिल्मों को ऑडियंस का प्यार मिला था, जिसमें जब प्यार किसी से होता है, घराना, मेरे सनम, भरोसा, तीसरी मंजिल, शिकार जैसी कई फिल्में शामिल हैं. आपको बता दें कि तीसरी मंजिल फिल्म से आशा लाइमलाइट में आई थीं.

बेस्ट एक्ट्रेस का मिला था अवार्ड
साल 1972 में आखा पारेख को कटी पतंग के लिए बेस्ट एक्ट्रेस का अवार्ड मिला था. वहीं साल 2002 में फिल्मों में योगदान के लिए फिल्मफेयर का ही लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से नवाजा गया था.

Advertisement. Scroll to continue reading.

चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर करियर की शुरूआत
आशा पारेख का जन्म 2 अक्टूबर 1942 को गुजरात के एक मध्यम वर्गीय परिवार में हुआ था. एक्ट्रेस ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत साल 1952 से चाइल्ड आर्टिस्ट के तौर पर फिल्म ‘आसमान’ से की थी. बता दें कि आशा पारेख भारतीय सेंसर बोर्ड की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं.

You May Also Like

कोरोनावायरस

दुनिया पर एक नए वायरस का खतरा मंडराने लगा है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार फ्रांस के वैज्ञानिकों ने 48,500 साल पुराने जॉम्बी...

स्पोर्ट्स

IND vs AUS Hockey: इंडियन टीम ऑस्ट्रेलिया में चल रही 5 मैचों की हॉकी सीरीज के तीसरे मैच में वर्ल्ड नंबर ऑस्ट्रेलिया को हराकर...

देश

ICAI CA Foundation Admit Card Out: इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने आईसीएआई सीए फाउंडेशन दिसंबर एडमिट कार्ड 2022 जारी कर दिया है....

देश

BJP Vs Congress: रक्षामंत्री (Defence Minister) राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की तुलना रावण से करने के लिए...

Advertisement