Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

क्रिकेट

IPL होगा अब और मजेदार, BCCI के नए नियम से पावर हिटर्स की मौज

Sarfaraz Khan/@ipl twitter

BCCI set to implement impact player rule in T20: T20 क्रिकेट अब और मजेदार होने वाला है. क्रिकेट के इस सबसे लोकप्रिय फॉर्मेट को और मजेदार बनाने के लिए भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) नए नियम को लागू करने जा रहा है जिसकी शुरुआत सैयद मुश्ताक अली ट्राफी से होगी. सैयद मुश्ताक अली ट्राफी 11 अक्टूबर से शुरु हो रही है. दरअसल, BCCI T20 क्रिकेट में इंपैक्ट प्लेयर की पॉलिसी लाने (impact player rule) जा रहा है. इस नियम के अंतर्गत टीमें 11 खिलाड़ियों के साथ साथ 4 सब्सीट्यूट प्लेयर की घोषणा भी टॉस के समय करेंगी और मैच के दौरान उन 4 प्लेयर में से किसी एक का इस्तेमाल किसी भी प्लेइंग प्लेयर की जगह कर सकती हैं. ऐसे खिलाड़ी को इंपैक्ट प्लेयर कहा जाएगा. इंपैक्ट प्लेयर (Impact Player) का इस्तेमाल एक बार ही हो सकता है. इस नियम के आने के बाद फटाफट क्रिकेट का रोमांच आखिरी ओवर तक बने रहने की उम्मीद है. आईए समझते हैं कि BCCI द्वारा लाए जा रहे नए नियम के बारे में .

खबर में खास

  • इंपैक्ट प्लेयर नियम से संबंधित महत्वपूर्ण सूचनाएं
  • बढे़गा IPL का रोमांच
  • वर्तमान नियम

इंपैक्ट प्लेयर नियम से संबंधित महत्वपूर्ण सूचनाएं

  • टीमों को 11 प्लेयर्स के साथ ही 4 इंपैक्ट प्लेयर्स के नाम देने होंगे.
  • दोनों टीमें यह जानकारी फील्ड अंपायर और थर्ड अंपायर को देंगी.
  • मैच में सस्पेंड खिलाडी इंपैक्ट प्लेयर नहीं बनाया जा सकता है.
  • दोनों पारियों में 14वें ओवर के पहले ही इंपैक्ट प्लेयर को उतार सकते हैं.
  • इंपैक्ट प्लेयर की जगह बाहर होने वाला खिलाड़ी दोबारा नहीं उतरेगा.
  • इंपैक्ट प्लेयर तभी 4 ओवर गेंदबाजी कर सकता है जब वो जिसके स्थान पर आता है उसने 1 ओवर भी न फेंके हों.

बढे़गा IPL का रोमांच
बीसीसीआई द्वारा लाए जा रहे नए नियम से दुनिया की सबसे लोकप्रिय T20 लीग IPL का रोमांच बढ़ जाएगा. अब IPL पहले ज्यादा रोमांचक और कठिन हो जाएगा. क्योंकि मैच खेल रही दोनों ही टीमों के पास आखिरी ओवर तक मैच अपने पक्ष के करने का मौका रहेगा. एक बात और इंपैक्ट प्लेयर (Impact Player) का नियम आने के बाद पावर हिटर बल्लेबाजों की डिमांड अब और बढ़ने वाली है.

वर्तमान नियम
वर्तमान में जो नियम है उसके अनुसार टी20 में टीमों को प्लेइंग इलेवन के साथ ही 12वें खिलाड़ी का भी नाम देना होता है. लेकिन 12वां खिलाडी बैटिंग या बॉलिंग या विकेटकीपिंग नहीं कर सकता है. वह सिर्फ फील्डिंग कर सकता है. 4 इंपैक्ट प्लेयर का नियम ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश में लागू है. BBL में इसे एक्स फैक्टर के नाम से जाना जाता है. इसके अलावा फुटबॉल, हॉकी, रग्बी, बास्केटबॉल जैसे कई खेलों में खिलाड़ियों के सब्सटिट्यूट के नियम काफी पहले से हैं और इसका खूब इस्तेमाल होता है

Advertisement

Trending

You May Also Like

Advertisement