Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

क्रिकेट

India Women Team: फाइनल मैच- 2017, 2020 और 2022 में भी वही गलती, फाइनल में हार की हैट्रिक का बड़ा कारण

Harmanpreet Kaur
Harmanpreet Kaur/@ twitter

India Women Team: Big reason for hat-trick of loss in final- भारतीय महिला क्रिकेट (India Women Team) टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर (Harmanpreet Kaur) ने खिताबी मुकाबले में फिर से बल्लेबाजी पतन पर निराशा व्यक्त की और स्वीकार किया कि उनकी टीम को फाइनल में लगातार एक जैसी गलतियां दोहराने से बचना होगा. महिला क्रिकेट को पहली बार राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल किया गया जिसमें भारतीय टीम के पास गोल्ड मेडल जीतने का सुनहरा मौका था. भारत हालांकि फाइनल में फिर से अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाया और ऑस्ट्रेलिया से 9 रन से हार गया.

खबर में खास
  • भारतीय बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन
  • फाइनल में हार की हैट्रिक से नाराज कप्तान
  • फाइनल में हार की हैट्रिक का बड़ा कारण

भारतीय बल्लेबाजों का खराब प्रदर्शन

इस मैच में भी भारतीय बल्लेबाजी उसी तरह से लड़खड़ा गई जैसे कि 2020 में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टी-20 विश्वकप और 2017 में इंग्लैंड के खिलाफ वनडे विश्व कप के दौरान देखने को मिला था.
हरमनप्रीत ने मैच के बाद कहा, हर बार बड़े फाइनल्स में हम (बल्लेबाजी में) लगातार एक जैसी गलतियां दोहरा रहे हैं. यह ऐसी चीज है जिसमें हमें सुधार करना होगा.

IND W vs AUS W

फाइनल में हार की हैट्रिक से नाराज कप्तान

कौर ने कहा, हम लीग चरण या द्विपक्षीय श्रृंखलाओं में इस तरह की गलतियां नहीं करते हैं. यह कहीं ना कहीं हमारे दिमाग में घर कर गई है. भारत को अंतिम 6 ओवर में 50 रन की दरकार थी और उसके पास 8 विकेट बचे हुए थे. भारत को तब आसानी से जीत दर्ज करनी चाहिए थी लेकिन उसने बल्लेबाजों के खराब शॉट चयन के कारण 13 रन के अंदर पांच विकेट गंवा दिए.

IND-W vs AUS-W Final
Photo- BCCI Women (@BCCIWomen)/Twitter

फाइनल में हार की हैट्रिक का बड़ा कारण

हरमनप्रीत और जेमिमा रोड्रिगेज ने 96 रन की साझेदारी की लेकिन इन दोनों ने खराब शॉट खेलकर अपने विकेट गंवाए. हरमनप्रीत ने कहा,‘‘मैं हमेशा एक अतिरिक्त बल्लेबाज की तलाश में रहती हूं. अभी हम इस पर काम कर रहे हैं. एक बार हम इसे हासिल कर लेंगे तो फिर बल्लेबाजी पतन से उबर जाएंगे.
उन्होंने कहा, दो विकेट गंवाने के बाद जेमिमा और मैंने जिस तरह से बल्लेबाजी की वह उस समय की जरूरत थी. आपको संयमित होकर खेलने की जरूरत थी.

हम वास्तव में लक्ष्य के करीब थे. हरमनप्रीत ने कहा, अगर मैं या पूजा (वस्त्राकर) में से कोई टिका रहता तो हम मैच जीत सकते थे. लेकिन यह खेल का हिस्सा है. कई बार कुछ चीजें आपके नियंत्रण में नहीं होती हैं. हमें यहां काफी कुछ सीखने को मिला. भारत भले ही फाइनल में हार गया लेकिन हरमनप्रीत राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान अपनी टीम के प्रदर्शन से खुश और संतुष्ट हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

ये भी पढ़ें: CWG 2022 में भारतीय महिला टीम ने गाड़े झंडे, PM Modi ने कहा- बहुत स्पेशल है ये मेडल

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement