Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

क्रिकेट

कपड़े बेच कर दो बेटों को बनाया क्रिकेटर, एक दिल्ली कैपिटल्स की तरफ से IPL में मचा रहा धमाल

Sarfaraz Khan/@ipl twitter

Sarfaraz Khan : उत्तराखंड के खिलाफ होने वाले क्वार्टर फाइनल मुकाबले के लिए मुंबई की रणजी टीम का ऐलान कर दिया गया है. इस टीम में सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के बेटे अर्जुन तेंदुलकर (Arjun Tendulkar) को जगह नहीं मिली है. बता दें कि अर्जुन तेंदुलकर को IPL में मुंबई इंडियंस की करफ से भी एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला था. 6 जून से उत्तराखंड के खिलाफ होने वाले मुकाबले में मुंबई की रणजी टीम में मुशीर खान का चयन किया गया है. मुशीर खान युवा क्रिकेटर सरफराज खान (Sarfaraz Khan) के भाई हैं जो IPL में दिल्ली कैपिटल्स (Delhi capitals) का हिस्सा हैं. सरफराज खान पिछले रणजी सीजन में कई दमदार पारियां खेली थीं. मुशीर खान एक बेहतरीन बल्लेबाज होने के साथ साथ एक बेहतरीन लेग स्पिनर भी हैं.

खबर में खास

  • डोमेस्टिक क्रिकेट में ढेरो रन बनाए मुशीर ने
  • देश के लिए खेलने का सपना
  • नौशाद ने बताई आपबीती

डोमेस्टिक क्रिकेट में ढेरो रन बनाए मुशीर ने
मुंबई की रणजी टीम में मुशीर खान का चयन उनके घरेलू क्रिकेट में किए गए बेहतरीन प्रदर्शन के आधार पर किया गया है. मुशीर ने अंडर 19 कूच बिहार ट्रॉफी में बेहतरीन प्रदर्शन किया था और अपनी टीम मुंबई को फाइनल में पहुंचाने में बड़ा योगदान दिया था. मुशीर ने 9 मैचों में 67 की औसत से 670 रन बनाए थे जिसमें उन्होंने 2 शतक और 5 अर्धशतक लगाए थे. साथ ही 32 विकेट भी हासिल किए थे. पिछले साल वो डिवीजन पुलिस शील्ड और माधव मंत्री एक दिवसीय टूर्नामेंट में ‘मैन ऑफ द टूर्नामेंट’ भी रहे थे.

Musheer Khan/@ twitter

देश के लिए खेलने का सपना
मुशीर के पिता नौशाद खान ने मुशीर के चयन के बाद चयनकर्ताओं को धन्यवाद देते हुए कहा कि सरफराज के बाद मुशीर पर भी भरोसा जताने के लिए मैं मुंबई क्रिकेट एसोसिएशन (Mumbai Cricket Association) और टीम के सिलेक्टर्स को धन्यवाद देता हूँ. नौशाद खान ने कहा कि मेरा भी कभी मुंबई रणजी टीम में चयन किया गया था लेकिन मैं नहीं खेल पाया. अब मेरे अधूरे सपने को मेरे बच्चे पूरा करेंगे. और सिर्फ मुंबई नहीं बल्कि देश के लिए खेलेंगे.

नौशाद ने बताई आपबीती
मुशीर के चयन के बाद उनके पिता नौशाद खान ने अपनी आपबीती बताई है और दोनों बेटों को क्रिकेटर बनाने की कहानी भी बताई है. नौशाद ने कहा कि वे खुद एक क्रिकेट कोच रहे हैं. एक समय उनके एक दोस्त ने उन्हें ताना मारते हुए कहा था कि, मेरे अंदर काबिलियत थी तो मैं खेला, अगर तुम्हारे में टैलेंट है तो अपने बच्चों को खिलाड़ी बनाकर दिखाओ. इसी घटना के बाद नौशाद ने अपने दोनों बेटों के क्रिकेटर बनाने की ठान ली आज परिणाम सबके सामने है. हालांकि अपने बच्चों को क्रिकेटर बनाने के लिए नौशाद खान ने काफी संघर्ष किया है, जिसमें रेलवे की नौकरी से लेकर कपड़े बेचने तक सबकुछ शामिल है, हालांकि उस संघर्ष का परिणाम अब उन्हें धीरे धीरे मिलने लगा है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

देश

नई दिल्ली. अभी तक सीबीएसई (CBSE Result) बोर्ड परीक्षा का परिणाम नहीं हो सका है. लंबे समय से विद्यार्थी रिजल्ट का इंतजार कर रहे...

विदेश

नई दिल्लीः संयुक्त राज्य अमेरिका (America) के शिकागो में इलिनोइस के हाईलैंड पार्क में 4 जुलाई की परेड के दौरान फायरिंग(Firing) की घटना में मौतों का...

क्रिकेट

IND vs ENG Edgbaston 5th Test Day 4 Highlights: जो रूट (नाबाद 76) और जॉनी बेयरस्टो (नाबाद 72) के बीच 150 रन की साझेदारी...

कोरोनावायरस

नई दिल्ली: देश में Corona के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं, नए मामलों का ग्राफ उठता जा रहा है ऐसे में देश के...

Advertisement