Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

Amarnath Yatra: मोबाइल टावर बढ़ाये जाएं, 6000 फीट की ऊंचाई पर होगी चिकित्सा व्यवस्था

Amarnath Yatra
अमरनाथ यात्रा (File Photo: ANI)

नई दिल्ली: केंद्रीय गृह अमित शाह ने मंगलावर को नई दिल्ली में एक उच्चस्तरीय बैठक में अमरनाथ यात्रा की तैयारियों की समीक्षा की. गृह मंत्री ने सुरक्षा और यात्रियों की आवश्यक सुविधाओं को लेकर एक लम्बी बैठक की. इस दौरान अमित शाह ने कहा कि अमरनाथ यात्रा में आने वाले यात्रियों को दर्शन सुगम हो और उन्हें किसी समस्या का सामना न करना पड़े ये मोदी सरकार की प्राथमिकता है. साथ ही अमरनाथ यात्रियों के आवागमन, ठहरने, बिजली, पानी, संचार और स्वास्थ्य समेत सभी आवश्यक सुविधाओं की पर्याप्त व्यवस्था करने के निर्देश दिए.

खबर में खास

  • मशीने तैनात करने का भी निर्देश
  • परिवहन सेवाएं बढ़ाई जानी चाहिए
  • बैठक में ये लोग रहे मौजूद

मशीने तैनात करने का भी निर्देश

अमित शाह ने कहा, कोविड महामारी के बाद ये पहली अमरनाथ यात्रा है. अत्यधिक ऊंचाई के कारण अगर लोगों को किसी तरह की स्वास्थ्य सम्बंधित समस्या न हो उसके लिए पर्याप्त इंतज़ाम होंगे. यात्रा मार्ग में बेहतर संचार और किसी भी सूचना के प्रसार के लिए मोबाइल टावर बढ़ाये जाएं, भूस्खलन होने की स्थिति में मार्ग तुरंत खोलने के लिए मशीने तैनात करने का भी निर्देश दिया.

परिवहन सेवाएं बढ़ाई जानी चाहिए

गृहमंत्री ने कहा, पर्याप्त संख्या में ऑक्सीज़न सिलेंडर सुनिश्चित करने के साथ ही 6000 फीट से अधिक की ऊंचाई पर पर्याप्त चिकित्सा बेड और किसी भी आपात चिकित्सा स्थिति से निपटने के लिए एबुलेंस और हेलीकाप्टर तैनात होने चाहिए. साथ ही आगे कहा, यात्रियों की सुविधा के लिए अमरनाथ यात्रा के दौरान सभी तरह की परिवहन सेवाएं बढ़ाई जानी चाहिए.

Advertisement. Scroll to continue reading.

बैठक में ये लोग रहे मौजूद

बैठक में जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय गृह सचिव, आसूचना ब्यूरो के निदेशक, जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव और केंद्र सरकार के विभिन्न मंत्रालयों और विभागों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए. गृहमंत्री ने अमरनाथ यात्रा की सुरक्षा और यात्रियों के लिए आवश्यक सुविधाओं को लेकर भी एक लम्बी बैठक की. इसमें राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल, जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा, केंद्रीय गृह सचिव, आसूचना ब्यूरो के निदेशक, जम्मू कश्मीर के मुख्य सचिव और सुरक्षा एजेंसियों के वरिष्ठ अधिकारी शामिल भी शामिल हुए.

दरअसल, अमरनाथ यात्रा 2020 और 2021 में कोरोना वायरस महामारी के कारण नहीं हो सकी थी. साल 2019 में, अनुच्छेद 370 के ज्यादातर प्रावधानों को निरस्त करने से ठीक पहले इसे संक्षिप्त कर दिया गया था. वहीं, इस तीर्थयात्रा में लगभग तीन लाख श्रद्धालुओं के भाग लेने की संभावना है. ये यात्रा 11 अगस्त को संपन्न हो सकती है.

You May Also Like

क्रिकेट

BCCI Surprising everyone: इंडियन क्रिकेट (Indian Cricket) में आजकल सरप्राइज देने का दौर चल रहा है. ये बात हम यूं ही नहीं कह रहे...

देश

अगस्त में नए उपराष्ट्रपति भी मिल जाएंगे. चुनाव को लेकर सत्तापक्ष और विपक्ष में प्रत्याशी को लेकर भारी मंथन जारी है. जल्द ही दोनों...

क्रिकेट

Virat Kohli- Bad Luck!: ”इसी होनी को तो क़िस्मत का लिखा कहते हैं जीतने का जहां मौका था वहीं मात हुई”. इंग्लैंड और भारत...

क्रिकेट

नई दिल्ली: इंग्लैंड टेस्ट टीम की किस्मत अचानक बदल गई है. इंग्लैंड ने पिछले 4 टेस्ट मैचों में धमाकेदार जीत दर्ज की है वो...

Advertisement