Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

पीएम मोदी की रूसी विदेश मंत्री से मुलाकात पर तिलमिलाया अमेरिका, भारत को दी धमकी

रूसी विदेश मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच व्यापार और सुरक्षा से संबंधित तमाम मुद्दों पर बातचीत पर हुई. वहीं लारलोव के पीएम मोदी (PM Modi) से मुलाकात पर अमेरिका तिलमिला गया है.

Sergey Lavrov-PM Modi
रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (L) ने पीएम मोदी (R) से मुलाकात की. (Photo: PTI)

नई दिल्लीः रूस-यूक्रेन जंग (Russia-Ukraine War) के बीच रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव (Sergey Lavrov) दो दिवसीय भारत यात्रा पर आए. भारत में लारलोव ने अपने समकक्ष डॉ. एस जयशंकर (Dr. S. Jaishankar) से मुलाकात की. इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मुलाकात की. दोनों नेताओं के बीच व्यापार और सुरक्षा से संबंधित तमाम मुद्दों पर बातचीत पर हुई. लारलोव ने भारत को मध्यस्थता करने के लिए आमंत्रित किया. वहीं रूसी विदेश मंत्री के पीएम मोदी (PM Modi) से मुलाकात पर अमेरिका तिलमिला गया है. अमेरिका ने भारत को अस्पष्ट शब्दों में धमकी भी दी है.

इस खबर में ये है खास

  • अमेरिका ने दिखाया चीन का हौव्वा
  • भारत ने भी दिया करारा जवाब
  • पीएम मोदी-लारलोव में ये बात हुई

अमेरिका ने दिखाया चीन का हौव्वा

अमेरिका ने भारत को अस्पष्ट धमकी देते हुए कहा है कि रूस से लगातार तेल की खरीद नई दिल्ली को महंगी पड़ सकती है क्योंकि अमेरिका रूस के खिलाफ कड़े आर्थिक प्रतिबंध लगाने की तैयारी में है. अमेरिका ने भारत को चीन का हौव्वा दिखाते हुए भी कहा कि चीन और रूस दोस्त बन चुके हैं. जब चीन भारत पर हमला करेगा तो रूस बचाने नहीं आएगा. अमेरिका के उप राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार दलीप सिंह ने भारत को गंभीर चेतावनी देते हुए कहा कि अगर चीन एलएसी लांघता है तो रूस चीन के खिलाफ भारत की मदद को आगे नहीं आएगा. उन्होंने कहा कि अमेरिका किसी भी देश को रूसी केंद्रीय बैंक के साथ वित्तीय लेनदेन में शामिल होते नहीं देखना चाहेगा.

भारत ने भी दिया करारा जवाब

अमेरिका की दबे शब्दों में धमकी पर भारत ने भी करारा जवाब दिया. संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि रहे सैयद अकबरूद्दीन ने अमेरिकी डिप्टी एनएसए दलीप सिंह के बयानों की निंदी की. उन्होंने एक ट्वीट में कहा है कि अमेरिका के डिप्टी एनएसए दलीप सिंह भाषा दोस्त से ज्यादा जबरदस्ती की लग रही है. उन्होंने कहा कि भारत अपने हितों की रक्षा करना अच्छी तरह से जानता है. बता दें कि भारत ने रूस से तेल खरीदने का फैसला किया है. दोनों देशों के बीच तेल के व्यापार में रुपया और रूबल का इस्तेमाल होगा. जिससे डॉलर का दाम गिर सकता है, यही बात अमेरिका को परेशान कर रही है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

पीएम मोदी-लारलोव में ये बात हुई

पीएम मोदी ने रूसी विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव से कहा कि यूक्रेन से शांति प्रयासों में भारत योगदान देने को तैयार है. पीएम ने रूस से यूक्रेन में हिंसा खत्म करने की भी अपील की. इससे पहले लारलोव ने कहा था कि भारत चाहे तो मध्यस्थता की भूमिका निभा सकता है और अंतरराष्ट्रीय समस्याओं के प्रति अपने न्यायपूर्ण एवं तर्कसंगत दृष्टिकोण के साथ वो ऐसी प्रक्रिया का समर्थन कर सकता है. कोई भी भारत का विरोध नहीं करेगा. लावरोव ने संघर्ष पर भारत की स्वतंत्र स्थिति की सराहना करते हुए उसे महत्वपूर्ण और गंभीर देश के रूप में वर्णित किया, जो अमेरिका के किसी भी प्रभाव में नहीं आता है.

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

देश

नई दिल्ली. देश के 2 राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतगणना हो रही है. गुजरात में एक...

देश

गुजरात में एक और 5 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए 63.14 फीसदी वोट डाले गए थे. वहीं हिमाचल में 12 नवंबर को 75.6...

राज्य

अब तक रुझानों के अनुसार एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस और...

Advertisement