Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

2024 के लिए क्या है BJP का ‘मिशन 144’, जीत की हैट्रिक लगाने के लिए धांसू प्लान तैयार

केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने बताया कि पार्टी ने एक योजना बनाई है कि लोकसभा की ऐसी सीट जिसे हम बिल्कुल नहीं जीतते या कभी-कभार जीतते हैं और सर्वे में वो सीट कमजोर दिखती है, ऐसी सीट पर कुछ मंत्रियों की ड्यूटी लगाई गई है. ये देखेंगे कि वहां कौन से प्रस्ताव लंबित हैं? उसे जल्द क्लियर कराएंगे.

BJP
BJP का आपरेशन लोटस-2 शुरू, इन राज्यों में कांग्रेस विधायकों को तोड़ने की तैयारी (File Photo: ANI)

2024 में भले ही अभी वक्त हो, लेकिन लगातार तीसरी पर सत्ता में आने के लिए बीजेपी ने अपनी कमर पूरी तरह से कस ली है. 2024 के लिए भगवा पार्टी ने ‘मिशन 144’ का ऐसा धांसू प्लान बनाया है, जिससे विपक्ष का एक बार फिर से डिब्बा गोल हो जाएगा. अब आप सोच रहे होंगे कि बीजेपी का ‘मिशन 144’ है क्या? दरअसल बीजेपी की निगाहें खासतौर से लोकसभा की उन 144 सीटों पर टिकी हैं, जहां 2019 में कमल नहीं खिला या बड़ी मुश्किल से जीत हासिल हुई थी.

इस खबर में ये है खास

  • बीजेपी लगाएगी जीत की हैट्रिक?
  • 144 सीटों पर जीत की रणनीति
  • 'मिशन 144' की किसे मिली जिम्मेदारी?
  • किसे नेता को किस राज्य की मिली कमान?
  • 81 बुजुर्ग सांसदों का कटेगा टिकट!

बीजेपी लगाएगी जीत की हैट्रिक?

भगवा पार्टी का ‘2024 फतह’ पर काम शुरू हो चुका है. पार्टी देशभर की सभी लोकसभा सीटों पर सर्वे करने में लगी हुई है. पार्टी की फोकस उन सीटों पर ज्यादा है, जहां उसे कामयाबी नहीं मिली थी या एक-दो बार ही जीत हासिल हुई है या फिर वहां की जनता अब पार्टी से नाराज है. केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल ने बताया कि पार्टी ने एक योजना बनाई है कि लोकसभा की ऐसी सीट जिसे हम बिल्कुल नहीं जीतते या कभी-कभार जीतते हैं और सर्वे में वो सीट कमजोर दिखती है, ऐसी सीट पर कुछ मंत्रियों की ड्यूटी लगाई गई है. ये देखेंगे कि वहां कौन से प्रस्ताव लंबित हैं? उसे जल्द क्लियर कराएंगे.

ये भी पढ़ें- बीजेपी ने 2024 के लिए शुरू कर दी है तैयारी, 80 फीसदी पसमांदा मुसलमान भी देंगे वोट!

144 सीटों पर जीत की रणनीति

Advertisement. Scroll to continue reading.

बीजेपी ने देशभर में 74,000 ऐसे बूथों का चयन किया है, जहां पार्टी का परफॉरमेंस कमजोर रहा है. इन बूथों पर मेहनत करने की जिम्मेदारी विधायक और सांसदों को दी गई है. यहां पर विधायक और सांसद के अलावा लोकल प्रभावशाली लोगों के साथ मिलकर और संघ के स्थानीय प्रचारक के साथ कोआर्डिनेट कर बूथ को पावरफुल बनाने का काम करेंगे. साथ ही बीजेपी उन 144 सीटों पर भी फोकस कर रही है, जहां 2019 में उसे हार का सामना करना पड़ा था. पहले चरण में पार्टी इन 144 सीटों के बारे में पूरी जानकारी जुटाएगी और फिर वहां के बूथों पर पार्टी को मजबूत किया जाएगा.

‘मिशन 144’ की किसे मिली जिम्मेदारी?

इन 144 सीटों पर जीत हासिल करने के लिए बीजेपी माइक्रो लेवल पर काम कर रही है. बताया जा रहा है कि बीजेपी 18 महीनों में काम करने के लिए नेताओं को 3 स्तर पर तैनात करेगी. पार्टी ने 4 नेताओं की एक समिति बनाई है. जिसमें राष्ट्रीय महासचिव विनोद तावड़े, बस्ती से लोकसभा सासंद हरीश द्विवेदी, राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा और उत्तराखंड से राज्यसभा सांसद नरेश बंसल को शामिल किया गया है.

किसे नेता को किस राज्य की मिली कमान?

विनोद तावड़े को दक्षिण भारत की जिम्मेदारी दी गई है. तो वहीं हरीश द्विवेदी को महाराष्ट्र, ओडिशा, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में कमल खिलाने की जिम्मेदारी मिली है. संबित पात्रा को बिहार, पश्चिम बंगाल, झारखंड के साथ ही पूर्वोत्तर राज्यों की कमान सौंपी गई है. जबकि नरेश बंसल को यूपी, हरियाणा, पंजाब और हिमाचल प्रदेश की जिम्मेदारी दी गई है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

81 बुजुर्ग सांसदों का कटेगा टिकट!

जानकारी के मुताबिक 2024 में बीजेपी 70 साल से अधिक उम्र के लोगों को टिकट नहीं देगी. हालांकि इसमें भी अपवाद मौजूद होंगे. यदि यह नियम लागू हुआ तो 81 सांसदों के टिकट कट जाएंगे. बुजुर्ग सांसदों में सबसे ज्यादा यूपी से 12, गुजरात से 10, कर्नाटक से 9, महाराष्ट्र से 5, झारखंड से 2, बिहार से 6, मध्य प्रदेश से 5 और राजस्थान से 5 हैं. पार्टी का मानना है कि इस फैसले से नए कार्यकर्ताओं को राजनीति में आगे आने का मौका मिलेगा. पार्टी के एक नेता ने यह भी कहा कि इसे टिकट काटना नहीं कहेंगे, बल्कि अपने से कम उम्र के कार्यकर्ताओं को बैटन सौंपना कहेंगे.

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

देश

नई दिल्ली. देश के 2 राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतगणना हो रही है. गुजरात में एक...

देश

गुजरात में एक और 5 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए 63.14 फीसदी वोट डाले गए थे. वहीं हिमाचल में 12 नवंबर को 75.6...

राज्य

अब तक रुझानों के अनुसार एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस और...

Advertisement