Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

शशि थरूर बोले- जो पार्टी के काम से संतुष्ट हैं, खड़गे को वोट करें, कोई भी अध्यक्ष गांधी परिवार से दूरी नहीं बना सकता है

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने परिवार को पार्टी के लिए एक संपत्ति बताया और कहा कि 17 अक्टूबर को पार्टी के आंतरिक चुनावों के बाद कांग्रेस का अध्यक्ष चाहे जो भी बने, वह गांधी परिवार को अलविदा नहीं कह सकता है.

Shashi Tharoor
Shashi Tharoor (File Photo: ANI)

नई दिल्ली. कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव (Congress President Election) की बड़े जोरो से तैयारी चल रही है. शुक्रवार को तीन उम्मीदवारों ने अध्यक्ष के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल किया था. नामांकन प्रक्रिया के बाद केएन त्रिपाठी का पर्चा खारिज हो गया है. अब कांग्रेस अध्यक्ष के चुनाव में शशि थरूर (Shashi Tharoor) और मल्लिकार्जन खड़गे (Mallikarjun Kharge) के बीच मुकाबला होगा. शनिवार को शशि थरूर ने शनिवार को कहा कि जो पार्टी के कार्य से संतुष्ठ हैं, वे खड़गे को वोट दें और जो पार्टी में सुधार चाहते हैं वह उन्हें वोट करें. थरूर ने कहा कि कोई भी पार्टी प्रमुख गांधी परिवार से दूरी नहीं बना सकता है.

इस खबर में ये है खास-

  • गांधी परिवार और कांग्रेस का DNA एक
  • पार्टी में बदलाव के लिए मुझे वोट दें- थरूर
  • कांग्रेस पार्टी में है आंतरिक लोकतंत्र

गांधी परिवार और कांग्रेस का DNA एक

कांग्रेस नेता शशि थरूर ने परिवार को पार्टी के लिए एक संपत्ति बताया और कहा कि 17 अक्टूबर को पार्टी के आंतरिक चुनावों के बाद कांग्रेस का अध्यक्ष (Congress President) चाहे जो भी बने, वह गांधी परिवार को अलविदा नहीं कह सकता है. शशि थरूर ने कहा, “गांधी परिवार और कांग्रेस का डीएनए एक ही है. थरूर ने कहा कि यह कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर छोड़ दिया जाना चाहिए कि वह दोनों में से किसी एक को चुनें. “यह लड़ाई नहीं है… पार्टी कार्यकर्ताओं को चुनने दें, यही हमारा संदेश है.

पार्टी में बदलाव के लिए मुझे वोट दें- थरूर

अध्यक्ष पद के उम्मीद शशि थरूर ने कहा कि मैं कह रहा हूं कि अगर आप पार्टी के काम से संतुष्ट हैं, तो खड़गे साहब को वोट दें. अगर आप बदलाव चाहते हैं, तो मैं वहां हूं.” लेकिन कोई वैचारिक समस्या नहीं है. कांग्रेस पार्टी के संदेश में कोई बदलाव नहीं होगा.” यह देखते हुए कि पार्टी में सभी निर्णय केंद्रीय नेतृत्व द्वारा लिए जा रहे हैं, थरूर ने निर्णय लेने के लिए संगठन के निचले स्तरों को अधिकार देने पर जोर दिया.

Advertisement. Scroll to continue reading.

कांग्रेस पार्टी में है आंतरिक लोकतंत्र

थरूर ने कहा, “आजकल सभी फैसले नई दिल्ली में हो रहे हैं. पार्टी के लिए अच्छा होगा कि ब्लॉक, जिला और राज्यों के स्तर पर जमीनी स्तर पर फैसले लेने का अधिकार दिया जाए.” उन्होंने कहा, “जो आंतरिक लोकतंत्र हम दिखा रहे हैं, वह किसी अन्य पार्टी में मौजूद नहीं है. जब चुनाव की घोषणा की गई थी, तो मेरा इरादा चुनाव लड़ने का था. “उसके बाद कई लोगों, आम कार्यकर्ताओं ने मुझे चुनाव लड़ने के लिए कहा. मैंने सोचना और लोगों से बात करना शुरू कर दिया.

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

देश

नई दिल्ली: बिहार कर्मचारी चयन आयोग (BSSC) ने बुधवार को इस बात की पुष्टि कि बीएसएससी सीजीएल प्रीलिम्स 2022-23 (BSSC CGL Prelims 2022-23) यानि...

राज्य

सपा के लिए मैनपुरी सीट जीतना काफी अहम माना जा रहा है. इसलिए चुनाव से पहले अखिलेश ने चाचा के साथ अपनी पुरानी अदावत...

Advertisement