Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

पहली बार अमेरिकी नौसेना का जहाज मरम्मत के लिए पहुंचा भारत

US Navy ship arrives in Chennai
US Navy ship arrives in Chennai

भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी में एक नया आयाम जोड़ते हुए, यूएस नेवी शिप (USNS) चार्ल्स ड्रू मरम्मत के लिए रविवार (7 अगस्त) को चेन्नई के कट्टुपल्ली शिपयार्ड पहुंचे. रक्षा मंत्रालय के अनुसार, भारत में अमेरिकी नौसेना (US Navy) के जहाज की यह पहली मरम्मत है. अमेरिकी नौसेना (US Navy) ने जहाज के रखरखाव के लिए कट्टुपल्ली में एलएंडटी के शिपयार्ड को एक अनुबंध दिया था. ये आयोजन वैश्विक जहाज मरम्मत बाजार में भारतीय शिपयार्ड की क्षमताओं का प्रतीक है. रक्षा मंत्रालय ने कहा, भारतीय शिपयार्ड उन्नत समुद्री प्रौद्योगिकी प्लेटफार्मों का उपयोग करते हुए व्यापक और लागत प्रभावी जहाज मरम्मत और रखरखाव सेवाएं प्रदान करते हैं.

खबर में खास

  • पहली बार कोई अमेरिकी जहाज मरम्मत के लिए भारत आया
  • कट्टुपल्ली में एलएंडटी के शिपयार्ड को ठेका दिया था
  • रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने शिपयार्ड का दौरा किया

पहली बार कोई अमेरिकी जहाज मरम्मत के लिए भारत आया

दरअसल ये पहली बार है, जब कोई अमेरिकी जहाज मरम्मत कार्य के लिए भारत पहुंचा है. रक्षा मंत्रालय ने इसे मेक इन इंडिया के लिए उत्साहजनक करार देते हुए कहा कि इस कदम ने भारत-अमेरिका रणनीतिक साझेदारी में एक नया आयाम जोड़ा है. अमेरिका का यह पोत मरम्मत के लिए 11 दिन तक कट्टूपल्ली के शिपयार्ड में रहेगा. यह पोत अमेरिकी नौसेना को हिंद-प्रशांत क्षेत्र में जंगी बेड़े के संचालन में अहम सहयोग देता है.

कट्टुपल्ली में एलएंडटी के शिपयार्ड को ठेका दिया था

रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, यह पहली बार है, जब अमेरिकी नौसेना का जहाज मरम्मत के लिए भारत पहुंचा है. अमेरिकी नौसेना ने जहाज के रखरखाव के लिए कट्टुपल्ली में एलएंडटी के शिपयार्ड को ठेका दिया था. बयान में कहा गया, यह कदम वैश्विक जहाज मरम्मत बाजार में भारतीय शिपयार्ड की क्षमताओं को दर्शाता है. भारतीय शिपयार्ड जहाज मरम्मत और रखरखाव के लिए उन्नत समुद्री प्रौद्योगिकी का उपयोग करके व्यापक और किफायती सेवाएं प्रदान करते हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने शिपयार्ड का दौरा किया

रक्षा सचिव अजय कुमार, नौसेना के उप प्रमुख वाइस एडमिरल एस.एन. घोरमडे और रक्षा मंत्रालय के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने शिपयार्ड का दौरा किया. इस दौरान, चेन्नई में अमेरिकी महावाणिज्य दूत जुडिथ रेविन के अलावा नयी दिल्ली स्थित अमेरिकी दूतावास के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे. कुमार ने कहा, हमें अमेरिकी नौसेना पोत चार्ल्स ड्रयू का भारत में स्वागत करते हुए प्रसन्नता हो रही है. भारत-अमेरिका के बीच रणनीतिक साझेदारी को आगे बढ़ाने में भी भारत की पहल का विशेष महत्व है.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement