Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

वीरता पुरस्कारों की घोषणा: नायक देवेंद्र प्रताप सिंह कीर्ति चक्र से सम्मानित, 8 जवानों को शौर्य चक्र, देखें पूरी लिस्ट

gallantry award

नई दिल्ली: स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर भारतीय सेना के जवानों को सम्मानित किया गया. वीरों के शौर्यगाथा को देश नमन कर रहा है. इन्हीं वीर जवानों में से जम्मू और कश्मीर में तैनात रहे नायक देवेंद्र प्रताप सिंह जिनके साहस के आगे आतंकियों ने घुटने टेक दिए थे. हमारे वीर जवान के अदम्य साहस की बदौलत देश की सरहद सुरक्षित है. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू 15 अगस्त हो वीर जवानों को पुरस्कार से नवाजेंगी. चलिए पुरस्कार से सम्मानित वाने वाले वीर जवानों की पूरी लिस्ट देखते हैं.

नायक देवेंद्र प्रताप सिंह

29 जनवरी 2022 को इनपुट प्राप्त हुआ कि पुलवामा जिले के एक गांव में आतंकवादियों की मौजूद है. नायक देवेंद्र प्रताप सिंह ने एक अभेद्य घेरा बनाने में असाधारण सामरिक कौशल का प्रदर्शन किया. तलाशी के दौरान जब अंधाधुंध फायरिंग की गई, तब आधुनिक असॉल्ट राइफलों से लैस आतंकियों को नायक देवेंद्र प्रताप सिंह अपनी जमीन पर डटे रहे और तुरंत जवाबी कार्रवाई की, जिससे आतंकवादी भागने से बच गए. उन्होंने आग की चपेट में आकर खुद को टारगेट के पास खड़ा कर लिया. आतंकियों ने ग्रेनेड फेंके और उसके साथ आमने-सामने आ गए. स्टील की नसें और सर्वोच्च कोटि की बहादुरी, नायक देवेंद्र प्रताप सिंह ने एक आतंकी को मौके पर ही ढेर कर दिया.
देवेंद्र प्रताप सिंह को कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया है.

पाओतिनसैट गुइटे

30 नवंबर, 2020 को पाओतिनसैट गुइटे के नेतृत्व में 59 बीएन, बीएसएफ की घातक टीम, इलाके और दुश्मन की रणनीति से परिचित एसआई (जीडी) को तैनात किया गया था. आतंकवादियों ने घातक टीम पर एंबुशो के पास से फायरिंग की. वहीं, स्थिति पर तत्काल नियंत्रण कर लिया, घात लगाकर बैठ गए और तेज और आक्रामक जवाबी गोलीबारी की. भारी खनन वाले इलाके के बावजूद आतंकवादी समूह की ओर जमीन और घनी वनस्पति के साथ. जबकि शत्रु से निपटने वक्त पाओतिनसैट गुइते को गोली लगी थी. वह अपनी सुरक्षा के लिए दुश्मन को उलझाना जारी रखा. गंभीर रूप से घायल होने के बावजूद उन्होंने साहस दिखाया और एक आतंकवादी को सफलतापूर्वक मार गिराया. घायल हालात मे अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें चिकित्सा अधिकारी ने मृत घोषित कर दिया. उनके कर्तव्य निष्ठा और राष्ट्र के लिए सर्वोच्च बलिदान के कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

सुदीप सरकार

07/08 नवंबर 2020 की मध्यरात्रि में सुदीप और अब्दुल हमीद गश्त पर थे. कुपवाड़ा में टीम ने सशस्त्र घुसपैठियों को एआईओएस की ओर बढ़ते हुए देखा. इस दौरान आतंकवादियों ने गोलाबारी की, जिसका जवाबी कार्रवाई की गई. लेकिन गोली लगने के कारण गंभीर रूप से घायल हो गए थे. तब भी एक आतंकवादी को मार गिराया, लेकिन चोटों के कारण उनकी मौत हो गई. सुदीप सरकार को कीर्ति चक्र से सम्मानित किया गया है.

जसबीर सिंह

29 दिसंबर 2021 को गनर जसबीर सिंह एक ऑपरेशन का हिस्सा थे. एक ऑपरेशन के दौरान घेरा, जिसमें तीन आतंकवादी थे. अनंतनाग जिले (जम्मू और ) के एक गांव में शुरू किया गया था. आतंकवादियों ने अंधाधुंध गोलियां बरसाईं. घेरा तोड़ने और भागने के प्रयास में दो हथगोले आतंकियों ने फेंके. इस दौरान सटीक और जवाबी कार्रवाई की, जिसने आतंकवादियों को भागने से रोक दिया, लेकिन आतंकवादियों ने फायर करना जारी रखा. फिर वह अदम्य साहस दिखाते हुए आगे बढ़े और अपने मिशन को अंजाम दिया. जसबीर सिंह को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया.

हवलदार घनश्याम

13 जुलाई 2021 को पुलवामा शहर (जम्मू और कश्मीर) में आतंकवादियों की मौजूदगी की खबर मिली. हवलदार घनश्याम एक अभेद्य घेरा के साथ तेजी से जाल बिछाना शुरू किया और मार्गों को कवर करने के लिए अपनी स्थिति को जल्दी से समायोजित कर लिया, 14 जुलाई 2021 को हवलदार घनश्याम और सिपाही भूपेंद्र सिंह भंडारी की एक आतंकवादी के साथ मुठभेड़ में मौत हो गई. हवलदार घनश्याम को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया.

लांस नायक राघवेंद्र सिंह

Advertisement. Scroll to continue reading.

29 दिसंबर 2021 को यूनिट द्वारा शुरू किया गया ऑपरेशन A, कुलगाम जिले (जम्मू और कश्मीर) के गांव में लांस नायक राघ वेंद्र को को एक रेडियो कॉल प्राप्त हुआ. वह खुद आतंकवादियों की ओर और फायरिंग करते हुए आगे बढ़े. आतंकवादियों ने तेजी से अंधाधुंध गोलियां चलाईं, लेकिन राघवेंद्र ने एक आतंकवादी को मार गिराया. अदम्य साहस और वीरता का परिचय लांस नायक राघवेंद्र को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया है.

मेजर अभिषेक सिंह

बटालियन ज्वाइन करने के बाद से मेजर अभिषेक सिंह ने कई सफल ऑपरेशन चलाया. चार सफल ऑपरेशन जिसके परिणामस्वरूप नौ आतंकवादी का सफाया हुआ. 07 जनवरी 2022, वह ऑपरेशन का हिस्सा थे. बडगाम जिले में प्रारंभिक घेराबंदी करने के लिए अपनी टीम का नेतृत्व किया. आतंकियों ने छिपाकर फायरिंग की, जिसमें मेजर अभिषेक सिंह घायल हो गए. मेजर अभिषेक सिंह को शौर्य चक्र का सम्मान मिला.

मेजर अमित दहिया

मेजर अमित दहिया को आतंकियों को खत्म करने का काम सौंपा गया. साथ ही ऑपरेशन टीम के नेतृत्व की जिम्मेदारी भी. पुलिवामा में आतंकवादियों ने फायरिंग शुरू कर दी. नागरिकों को कवर के रूप में अंधाधुंध इस्तेमाल कर रहे हैं. दहिया ने इस दौरान साहस का परिचय दिया. उनकी इस वीरता क लिए शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाता है.

मेजर नितिन धानिया

Advertisement. Scroll to continue reading.

मेजर नितिन धानिया ने 13 दिसंबर 2021 को दक्षिण के भीड़भाड़ वाले इलाके में सर्जिकल ऑपरेशन को अंजाम दिया. आतंकवादियों के खिलाफ जवाबी कार्रवाई की. इस दौरान मेजर नितिन ने आतंकियों को पकड़ा. साथ ही एक आतंकवादी को मार गिराया. इस असाधारण साहस का प्रदर्शन करने के लिए मेजर नितिन धानिया को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया.

मेजर संदीप कुमार

मार्च 2020 से मेजर संदीप कुमार ने पांच सफल ऑपरेशन किया. उन्होंने असाधारण संकल्प और धैर्य का परिचय दिया. इस दौरान 13 आतंकवादियों का सफाया हुआ. 05 जनवरी 2022 को ऑपरेशन के दौरान पुलवामा जिले में तीन आतंकवादी आधुनिक असॉल्ट राइफलों और नाइट विजन उपकरणों से लैस मेजर संदीप और सर्च पार्टी पर अंधाधुंध फायरिंग की. सेना ने जवाबी फायरिंग की और आतंकवादी को रोकने के लिए अपनी टीम को फिर से तैनात किया. एक आतंकवादी का सफाया किया और दूसरे को गंभीर रूप से घायल हो गया. सर्वोच्च नेतृत्व और अनुकरणीय साहस के लिए मेजर संदीप कुमार को शौर्य चक्र से सम्मानित किया जाता है.

सिपाही कर्ण वीर सिंह

सिपाही कर्ण वीर सिंह ने जब घात लगाकर हमला किया गया, तो दोनों भागने के प्रयास में आतंकवादी नाले में कूद गए. उन्होंने 100 मीटर तक आतंकियों का अकेले पीछा किया. इस दौरान आंतकवादियों ने अंधाधुंध गोली चलाई और ग्रेनेड फेंके जिससे वह घायल हो गए. जिसकी वजह वह शहीद हो गए. इस साहस के लिए सिपाही कर्ण वीर सिंह को शौर्य चक्र से सम्मानित किया गया.

लेफ्टिनेंट कमांडर मृत्युंजय कुमार

लेफ्टिनेंट कमांडर मृत्युंजय कुमार को जम्मू-कश्मीर में ओपी रक्षक के लिए तैनात किया गया था. इस दौरान कई ऑपरेश किए, जिनमें कई आतंकियों का सफाया हुआ. लेफ्टिनेंट कमांडर मृत्युंजय कुमार को साहस के शौर्य चक्र लिए उन्हें सम्मानित किया गया है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

टेक-ऑटो

नई दिल्ली : चाइना की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Xiaomi ने अपना नया स्मार्टफोन Civi 2 को लॉन्च कर दिया है. कंपनी द्वारा इस स्मार्टफोन...

बॉलीवुड

Bigg Boss: बिग बॉस एक ऐसा रियलिटी शो है, जो टीआरपी में सबसे आगे रहा है. आगामी 1 अक्टूबर से कलर्स टीवी पर बिग...

क्रिकेट

Australia Team Announced, AUS vs WI: अनुभवी सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और तीन अन्य शीर्ष खिलाड़ी वेस्टइंडीज के खिलाफ दो मैच की सीरीज के...

देश

नई दिल्ली: कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने एसएससी सीजीएल 2022 (SSC CGL) में खाली पदों का नोटिफिकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए...

Advertisement