Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

मोहन भागवत राष्ट्रपिता और राष्ट्रऋषि हैं, उनके आने से अच्छा सन्देश गया: उमर अहमद इलियासी

आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने अखिल भारतीय इमाम संगठन के चीफ उमर अहमद इलियासी से मुलाक़ात की. मुलाक़ात के बाद इलियासी ने मोहन भागवत को राष्ट्रपिता बताया.

Umer Ahmed Iliyasi
मोहन भागवत राष्ट्रपिता और राष्ट्रऋषि हैं, उनके आने से अच्छा सन्देश गया: उमर अहमद इलियासी (Video Grab)

आरएसएस चीफ मोहन भागवत ने इमाम हाउस में गुरुवार को अखिल भारतीय इमाम संगठन के चीफ उमर अहमद इलियासी से मुलाक़ात की. मुलाक़ात के बाद इलियासी ने मोहन भागवत को राष्ट्रपिता बताया. मोहन भागवत से मिलने के बाद एक चैनल को दिए इंटरव्यू में इलियासी ने यह बात कही. जब उनसे मोहन भागवत के उस बयान के बाबत पूछा गया, जिसमें उन्होंने हिन्दू और मुसलमान का DNA एक होने की बात कही थी, इसके जवाब में इलियासी ने कहा कि जो कुछ भी भागवत जी ने कहा था, वो सही है. इलियासी ने कहा कि चूंकि वो राष्ट्रपिता हैं, इसलिए उन्होंने जो भी कहा, सही कहा. हम सभी का मानना है कि देश पहले आता है. हमारा DNA एक है. बस ईश्वर की इबादत का तरीका अलग है. उन्होंने बताया कि RSS चीफ ने इमाम हाउस में बच्चों से भी बातचीत की.

खबर में ख़ास
  • भागवत के साथ कृष्ण गोपाल, रामलाल, इंद्रेश भी मौजूद
  • मोहन भागवत के आने से अच्छा सन्देश गया: इलियासी
  • यह निरंतर कायम रहने वाली संवाद प्रक्रिया का हिस्सा है
भागवत के साथ कृष्ण गोपाल, रामलाल, इंद्रेश भी मौजूद

आरएसएस चीफ और इमाम संगठन के चीफ के बीच कस्तूरबा गांधी मार्ग मस्जिद में एक घंटे से भी ज्यादा समय तक लम्बी बातचीत हुई. मोहन भागवत के साथ संघ के वरिष्ठ पदाधिकारी कृष्ण गोपाल, राम लाल, इंद्रेश कुमार भी इमाम हाउस गए थे. रामलाल पहले बीजेपी के संगठनात्मक सचिव थे तो इंद्रेश कुमार मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संरक्षक हैं.

मोहन भागवत के आने से अच्छा सन्देश गया: इलियासी

इलियासी ने बैठक के बाद कहा, यह अच्छी बात है कि मोहन भागवत हमारे पिता की पुण्यतिथि पर हमारे निमंत्रण पर पधारे. इससे देश में अच्छा सन्देश गया है. आरएसएस प्रमुख सांप्रदायिक सौहार्द को मजबूत करने के लिए मुस्लिम बुद्धिजीवियों संग चर्चा कर रहे हैं. हाल ही में मोहन भागवत ने दिल्ली के पूर्व LG नजीब जंग, पूर्व CEC SY कुरैशी, AMU के पूर्व कुलपति जमीरुद्दीन शाह, पूर्व सांसद शहीद सिद्दीक़ी और बिजनेसमैन सईद शेरवानी से मुलाक़ात की थी.

यह निरंतर कायम रहने वाली संवाद प्रक्रिया का हिस्सा है

मुलाक़ात में मोहन भागवत ने हिन्दुओं के लिए काफिर शब्द के इस्तेमाल के मुद्दे को उठाते हुए कहा था कि इससे अच्छा आदेश नहीं जाता. वहीं मुस्लिम पक्ष ने मुसलामानों को जिहादी और पाकिस्तानी बताये जाने पर आपत्ति जताई थी. मोहन भागवत की इस मुलाक़ात को लेकर आरएसएस के प्रचार प्रमुख सुनील आम्बेकर ने कहा, आरएसएस सरसंघचालक हर वर्ग के लोगों से मिलते हैं. यह निरंतर कायम रहने वाली संवाद प्रक्रिया का हिस्सा है.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement