Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

सोनिया गांधी से 6 साल बाद मिलेंगे नीतीश-लालू, क्या मोदी के खिलाफ एकजुट हो पाएगा विपक्ष?

मोदी के खिलाफ रचे जा रहे चक्रव्यूह में कांग्रेस की भूमिका को नीतीश अच्छी तरह से समझते हैं, इसीलिए वे आज 6 साल बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे. नीतीश के साथ उनके सहयोगी और राजद सुप्रीमो लालू यादव भी मौजूद रहेंगे.

Nitish Kumar-Sonia Gandhi-Lalu Yadav
सोनिया गांधी से मिलेंगे नीतीश कुमार और लालू यादव (File Photo: ANI)

2024 में बीजेपी को सत्ता से हटाने के लिए विपक्ष की घेराबंदी जारी है. बीजेपी से अलग होने के बाद से बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार विपक्ष को एकजुट करने में लगे है. वे लगातार विपक्षी नेताओं से मुलाकात कर रहे हैं. मोदी के खिलाफ रचे जा रहे चक्रव्यूह में कांग्रेस की भूमिका को नीतीश अच्छी तरह से समझते हैं, इसीलिए वे आज 6 साल बाद कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात करेंगे. नीतीश के साथ उनके सहयोगी और राजद सुप्रीमो लालू यादव भी मौजूद रहेंगे.

इस खबर में ये है खास

  • सोनिया गांधी से होगी अहम मुलाकात
  • राहुल निकाल रहे हैं 'भारत जोड़ो यात्रा'
  • आपसी मतभेद भुलाने को तैयार विपक्ष?

सोनिया गांधी से होगी अहम मुलाकात

मोदी के खिलाफ विपक्ष को एकजुट करने के सारे प्रयास जारी हैं. इसी कड़ी में लालू और नीतीश की कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से अहम मुलाकात होने वाली है. इससे पहले नीतीश कुमार ने राहुल गांधी से भी मुलाकात की थी. उस वक्त सोनिया गांधी विदेश में थीं, जिसके चलते उनसे मुलाकात नहीं हो सकी थी. सोनिया से मिलने के बाद बिहार के दोनों बड़े नेता हरियाणा में इनेलो की महारैली में शामिल होंगे. इस रैली में विपक्ष के सभी क्षेत्रीय दलों को नेताओं का जमावड़ा लगेगा.

राहुल निकाल रहे हैं ‘भारत जोड़ो यात्रा’

विपक्ष की ओर से अभी से दो मोर्चे बनते दिख रहे हैं. तमाम क्षेत्रीय दलों की ओर से नीतीश कुमार को आगे बढ़ाया जा रहा है, तो वहीं कांग्रेसियों के लिए पीएम पद के लिए राहुल गांधी ही सर्वश्रेष्ठ उम्मीदवार हैं. राहुल के नेतृत्व में कांग्रेस पार्टी ‘भारत जोड़ो यात्रा’ निकाली जा रही है. इस यात्रा के जरिए कांग्रेस की ओर से राहुल को प्रोजेक्ट करने की कोशिश की जा रही है. इस यात्रा के जरिए राहुल कन्याकुमारी से कश्मीर तक 376 लोकसभा सीटों को कवर रहे हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

हरियाणा में आज होगा मोदी विरोधियों का संगम, ‘मिशन 2024’ का करेंगे शंखनाद

आपसी मतभेद भुलाने को तैयार विपक्ष?

मोदी के खिलाफ विपक्षी एकजुटता के इस प्रयास में सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या विपक्ष आपसी मतभेद भुलाने को तैयार है? विपक्ष की ओर से नीतीश कुमार, ममता बनर्जी, केसीआर, राहुल गांधी और अरविंद केजरीवाल सहित तमाम ऐसे नेता हैं, जो प्रधानमंत्री बनने की चाहत रखते हैं. इससे पहले राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति चुनावों में बीजेपी के खिलाफ विपक्ष माहौल तो पूरा बना रहा था, लेकिन आखिरी वक्त में विपक्षी एकता तार-तार हो गई थी.

You May Also Like

क्रिकेट

IND vs NZ: इंडिया और न्यूजीलैंड के बीच तीसरा मुकाबला भी बारिश की वजह से पूरा नहीं हो सका. इंडिया द्वारा दिए 220 रनों...

बॉलीवुड

नई दिल्ली : बॉलीवुड टॉप एक्ट्रेस कृति सेनन (Kriti Sanon) इन दिनों अपनी फिल्म ‘भेड़िया’ (Film Bhediya) को लेकर चर्चा में बनी हुई हैं....

देश

JEE Main 2023: जेईई मेन 2023 परीक्षा तिथि और पंजीकरण के लिए उम्मीदवार आधिकारिक अपडेट की प्रतीक्षा कर रहे हैं. रिपोर्टों की मानें तो...

देश

3 मार्च 2002 को गोधरा कांड के बाद हुए दंगों के दौरान दाहोद जिले के लिमखेड़ा तालुका के एक गांव में भीड़ ने बिलकिस...

Advertisement