Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

नीतीश कुमार के ‘फूलपुर’ प्लान पर बीजेपी का हमला, सपा की टिप्पणी तोड़ सकती है दिल

पीएम मोदी को टक्कर देने के लिए नीतीश कुमार को यूपी में आना ही पड़ेगा. फूलपुर सीट का जातीय समीकरण भी पूरी तरह नीतीश के मुफीद है. इसलिए यहां से नीतीश कुमार को कोई खतरा नजर नहीं आ रहा है.

Nitish Kumar
नीतीश कुमार के UP प्लान पर बीजेपी का हमला (File Photo: ANI)

India Ahead की खबर पर मुहर लगाते हुए जेडीयू ने 2024 में नीतीश कुमार के यूपी से ताल ठोंकने के संकेत दिए हैं. इसकी जानकारी सबसे पहले हमने दी थी. अब जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह ने यूपी की फूलपुर लोकसभा सीट से नीतीश कुमार चुनावी मैदान में उतर सकते हैं. दरअसल मोदी को टक्कर देने के लिए नीतीश कुमार को यूपी में आना ही पड़ेगा. फूलपुर सीट का जातीय समीकरण भी पूरी तरह नीतीश के मुफीद है. इसलिए यहां से नीतीश कुमार को कोई खतरा नजर नहीं आ रहा है.

इस खबर में ये है खास

  • नीतीश की दावेदारी पर JDU का बयान
  • यूपी में नीतीश की सियासी ताकत
  • नीतीश पर बीजेपी का जोरदार हमला
  • सपा-कांग्रेस तोड़ सकती हैं दिल
  • यूपी में कुर्मी समाज का प्रतिनिधित्व

नीतीश की दावेदारी पर JDU का बयान

जेडीयू अध्यक्ष ललन सिंह ने कहा कि अगर फूलपूर की जनता चाहती है, हम उनका सम्मान करते हैं. हालांकि चुनाव लड़ने का फैसला नीतीश कुमार करेंगे. ललन सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार लोकसभा चुनाव लड़ेंगे या नहीं, यह सही समय पर ही तय किया जाएगा लेकिन नीतीश कुमार को फूलपुर ही नहीं बल्कि अंबेडकर नगर और मिर्जापुर से भी चुनाव लड़ने की पेशकश की गई है.

यूपी में नीतीश की सियासी ताकत

दरअसल नीतीश कुमार कुर्मी समुदाय से आते हैं. यूपी में कुर्मी समाज 6 फीसदी है, जो ओबीसी में 35 फीसद के करीब है. प्रदेश के 25 जिलों में इस समाज के वोटर ही हार-जीत का फैसला करते हैं. केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल इस समाज की सबसे बड़ी नेता हैं, जो इस समय बीजेपी के साथ हैं. ऐसे में विपक्ष को इस समुदाय का साथ नहीं मिल पाता. यदि नीतीश कुमार यूपी से लड़ते हैं, तो कुर्मी समाज का एक बड़ा वोटर उनके साथ जा सकता है. इसके अलावा ओबीसी समुदाय का गैर यादव वोटर का बड़ा वर्ग भी उनका समर्थन कर सकता है. यदि ऐसा हो गया तो बीजेपी बड़ी मुसीबत में फंस जाएगी.

Advertisement. Scroll to continue reading.

नीतीश पर बीजेपी का जोरदार हमला

वहीं यूपी में नीतीश कुमार की एंट्री को लेकर बीजेपी के कान खड़े हो गए हैं. अपने वोटबैंक में घुसपैठ को लेकर बीजेपी अभी से नीतीश कुमार पर हमलावर हो गई है. बीजेपी नेता डॉ. रामसागर सिंह ने नीतीश पर हमला करते हुए कहा कि नीतीश कुमार कभी भी यूपी से चुनाव नहीं लड़ेंगे. उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति कभी मुख्यमंत्री बनने के लिए विधानसभा का चुनाव नहीं लड़ता हो, वो लोकसभा का चुनाव भी नहीं लड़ सकता. उन्होंने कहा कि नीतीश ने सिर्फ एक बार लोकसभा चुनाव लड़ा था और वो भी बीजेपी की बदौलत जीते थे. उसके बाद से वे लोकसभा चुनाव नहीं लड़े हैं.

India Ahead की खबर पर लगी मुहर, UP से चुनाव लड़ेंगे नीतीश कुमार! JDU ने की पुष्टि

सपा-कांग्रेस तोड़ सकती हैं दिल

फूलपुर से नीतीश कुमार की उम्मीदवारी को लेकर सपा ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. सपा नेता आशीष चतुर्वेदी ने कहा कि अगर नीतीश कुमार फूलपुर से चुनाव लड़ने की इच्छा रखते हैं तो मैं समझता हूं कि वे पहले सपा के साथ विचार-विमर्श कर लें. इन्हें सपा के साथ पहले चर्चा करनी चाहिए थी. कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार से हम भी संपर्क में थे. इसकी कोई चर्चा भी नहीं है. ये मेरे ख्याल से उड़ी हुई अफवाह है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

यूपी में कुर्मी समाज का प्रतिनिधित्व

यूपी में दूसरी बार बीजेपी को धमाकेदार जीत दिलाने वाले बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह कुर्मी समुदाय से ही आते हैं. मौजूदा समय में कुर्मी समाज के कुल 34 विधायक हैं, जिसमें 26 बीजेपी, 4 अपना दल (एस), सपा और बसपा से 2-2 विधायक जीते थे. इसके अलावा अभी कुल 8 सांसद हैं, जिनमें 6 बीजेपी, एक बसपा और एक अपना दल (एस) शामिल हैं. अपना दल (एस) की अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल मोदी सरकार में मंत्री भी हैं.

Advertisement

Trending

You May Also Like

Advertisement