Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

ISI से ट्रेनिंग, आर्मी पोस्ट उड़ाने की प्लानिंग… पाक आर्मी के कर्नल ने रची थी खतरनाक साजिश

नौशेरा सेक्टर से पकड़े गए आतंकी ने पाकिस्तान (Pakistani Terrorist) की काली करतूतों का चिट्ठा एक बार फिर जगहजाहिर कर दिया है. आतंकी के प्लान को सुनकर सभी के रोंगटे खड़े हो गए. यदि ये अपने इरादों में कामयाब हो जाते, तो फिर से एक बार पुलवामा की यादें ताजा हो जातीं.

Pakistani Terrorist
पाक आतंकी गिरफ्तार (Photo: ANI)

पाकिस्तान (Pakistan) एक बार फिर पूरी तरह से नाकाम हो गया है. भारत में दहशत फैलाने के लिए पाकिस्तानी सेना किस तरह से साजिशें रचती है, उसकी पोल खुल गई है. नौशेरा सेक्टर से पकड़े गए आतंकी ने पाकिस्तान (Pakistani Terrorist) की काली करतूतों का चिट्ठा एक बार फिर जगहजाहिर कर दिया है. आतंकी के प्लान को सुनकर सभी के रोंगटे खड़े हो गए. यदि ये अपने इरादों में कामयाब हो जाते, तो फिर से एक बार पुलवामा की यादें ताजा हो जातीं.

इस खबर में ये है खास

  • PoK का रहने वाला है आतंकी तबारक
  • पाक कर्नल की रची पूरी साजिश नाकाम
  • 2016 में भारत आया था आतंकी तबारक
  • 21 अगस्त को हुई घुसपैठ की कोशिश

PoK का रहने वाला है आतंकी तबारक

पकड़े गए आतंकवादी तबारक हुसैन पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के जिला कोटली के सब्जकोट गांव का निवासी है. उसने बताया कि उसके पिता का नाम मलिक है और वे 6 भाई-बहन है. उसने बताया कि उसे और उसके साथियों को पाकिस्तानी सेना की ओर से ट्रेनिंग दी गई थी और भारत में दहशत फैलाने के लिए बॉर्डर पार कराया गया था.

पाक कर्नल की रची पूरी साजिश नाकाम

पाक आतंकी तबारक ने भारतीय सुरक्षाबलों को बताया कि उसके साथ 4 अन्य आतंकवादियों को भी भेजा गया था. उसने बताया कि एलओसी पार करने के बाद भारतीय सैनिकों पर ‘फिदायीन’ हमले को अंजाम देने के लिए कहा गया था. इसके लिए पाकिस्तानी कर्नल यूनुस चौधरी द्वारा 30 हजार रुपये दिए गए थे. बॉर्डर क्रास करते समय भारतीय सुरक्षाबलों की फायरिंग में तबारक को गोली लगी, जबकि उसके साथी फरार हो गए.

Advertisement. Scroll to continue reading.

झारखंड के CM सोरेन का करीबी प्रेम प्रकाश गिरफ्तार, कल घर से बरामद हुई थीं दो AK-47

2016 में भारत आया था आतंकी तबारक

गौरतलब है कि इससे पहले तबारक हुसैन 2016 में भारत आया था.तब उसने कई भारतीय पोस्ट की रेकी की थी. रेकी करने के बाद वह वापस पाकिस्तान लौट गया. यहां उसे ISI ने ट्रेनिंग दी. उसने बताया कि इस बार हमें भारतीय सेना पर हमला करने के लिए कहा गया था. हम हमला नहीं कर सके. बाकी साथी कहीं भाग गए. मुझे गोली लगने के बाद भारतीय सेना ने मुझे बचा लिया. वहीं भारतीय सेना के डॉक्टर राजीव नायर ने कहा कि हुसैन को जब लाया गया तो उसकी हालत काफी नाजुक थी. उन्होंने कहा कि उनकी जान बच गई है.

21 अगस्त को हुई घुसपैठ की कोशिश

वहीं सुरक्षाबलों ने बताया है कि राजौरी जिले के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर तैनात सतर्क सैनिकों द्वारा घुसपैठ की दो बड़ी कोशिशों को नाकाम कर किया है. 21 अगस्त 2022 को सुबह के समय नौशेरा के झंगर सेक्टर में तैनात सतर्क सैनिकों ने नियंत्रण रेखा के अपनी तरफ 2-3 आतंकवादियों की आवाजाही देखी. एक आतंकवादी भारतीय चौकी के करीब आया और बाड़ काटने की कोशिश की. घायल पाकिस्तानी आतंकवादी को जिंदा पकड़ लिया गया.

Advertisement. Scroll to continue reading.
Advertisement

Trending

You May Also Like

Advertisement