Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

नापाक साजिश के लिए PFI ने बनाया था प्लान ‘B’, तैयार कर लिए थे कई संगठन

टेरर फंडिंग, ट्रेनिंग कैम्प और संगठन में शामिल करने के लिए लोगों को उकसाने वाले के लिए पीएफआई के सदस्यों के NIA और ईडी ने छापा मारा. खास बात है कि पीएफआई के जरिए बिहार के फुलवारी शरीफ में गजवा-ए-हिंद स्थापित करने की साजिश की जा रही थी.

PFI
PFI ने भंग किया संगठन (File Photo)

नई दिल्ली. गुरुवार का दिन देश के कट्टरपंथी संगठन पीएफआई के लिए मुसीबतों भरा रहा. जब लोग सोकर ही नहीं उठे तो उससे पहले राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) और ईडी ने देश के 10 राज्यों में पीएफआई के ठिकानों पर छापेमारी की. इस दौरान अलग-अलग हिस्सों से 106 पीएफआई से जुड़े लोगों को गिरफ्तार किया गया. इतने प्लानिंग के साथ एजेंसी ने रेड डाली कि सभी ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की कार्रवाई को अंजाम दिया गया, जिससे किसी को भी अलर्ट होने का मौका नहीं मिला. उत्तर भारत हो या दक्षिण भारत, जहां-जहां पीएफआई की संदिग्ध गतिविधियां चल रही थीं, सभी जगहों पर NIA की रेड पड़ी.

इस खबर में ये है खास-

  • भनक लगते एजेंसी ने फोड़ा भंडा
  • इस वजह से एजेंसी ने मारा छापा
  • 10 राज्यों से 106 लोग गिरफ्तार
  • केरल से सबसे ज्यादा लोग गिरफ्तार

भनक लगते एजेंसी ने फोड़ा भंडा

इस बीच PFI के प्लान बी का खुलासा हुआ. अगर सरकार पीएफआई को बैन भी कर दें तो इस प्लान बी के जरिए पीएफआई अपनी नापाक साजिश को अंजाम देता रहता. बात यह कि इसके लिए पीएफआई ने पहले से कई संगठन तैयार कर लिए थे. जिसकी मदद से अपने एजेंडे को जारी रखने के लिए पीएफआई ने पूरा प्लान बनाया था. खास बात रही कि जैसे ही एजेंसियों को इसकी भनक लगी तो इसका भंडाफोड़ कर दिया.

इस वजह से एजेंसी ने मारा छापा

टेरर फंडिंग, ट्रेनिंग कैम्प और संगठन में शामिल करने के लिए लोगों को उकसाने वाले के लिए पीएफआई के सदस्यों के NIA और ईडी ने छापा मारा. खास बात है कि पीएफआई के जरिए बिहार के फुलवारी शरीफ में गजवा-ए-हिंद स्थापित करने की साजिश की जा रही थी. जहां NIA ने हाल ही में दबिश दी थी. पीएफआई तेलंगाना के निजामाबाद में भी कराटे ट्रेनिंग के नाम पर हथियार चलाने की ट्रेनिंग दे रहा था. कर्नाटक के हिजाब विवाद और प्रवीण नेत्तरू हत्याकांड में भी PFI का कनेक्शन सामने आया था.

Advertisement. Scroll to continue reading.

10 राज्यों से 106 लोग गिरफ्तार

NIA ने उत्तर प्रदेश, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु में सहित देश के तमाम राज्यों में छापेमारी की. जांच एजेंसियों ने करीब 10 राज्यों में प्रदेश पुलिस के साथ मिलकर 106 से ज्यादा कैडर्स को गिरफ्तार किया गया है. पहली बार PFI के चीफ सलाम परद को गिरफ्तार किया गया है. इस कार्रवाई को अबतक की सबसे बड़ी कार्रवाई बताया जा रहा है. इस कार्रवाई को देखकर लगता है कि अब वो वक्त आ गया है, जब मोदी सरकार PFI को बैन कर सकती है.

केरल से सबसे ज्यादा लोग गिरफ्तार

इस छापेमारी के दौरान केरल से सबसे ज्यादा 22 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इसके बाद कर्नाटक और महाराष्ट्र में 20-20 लोग गिरफ्तार किए गए हैं. इसके बाद सबसे ज्यादा 10 गिरफ्तारी तमिलनाडु से की गई है. फिर असम से 9, उत्तर प्रदेश से 8 लोगों के अलावा आंध्र प्रदेश से 5, मध्यप्रदेश से 4 लोगों को गिरफ्तार किया गया जबकि दिल्ली और पुड्डुचेरी से भी 3-3 लोग पकड़े गए. राजस्थान से भी 2 गिरफ्तारियां हुई हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement