Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

मोदी या मनमोहन… जानिए देश में कब रही थी सबसे ज्यादा महंगाई दर? जानें क्या कहते हैं आंकड़े?

बढ़ती महंगाई (Inflation) और बेरोजगारी (Unemployment) को लेकर कांग्रेस ने शुक्रवार को देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन (Congress Protes) किया. कांग्रेस पार्टी का ये प्रदर्शन ED की कार्रवाई के बीच किया गया. अब आज हम आपको मोदी सरकार और मनमोहन सरकार की तुलना करके महंगाई दर को समझाने वाले हैं, जिससे आपको पता चल जाएगा कि सबसे ज्यादा महंगाई दर कब थी?

Inflation Rate
देश में कब रही थी सबसे ज्यादा महंगाई दर?

कांग्रेस पार्टी ने बढ़ती महंगाई (Inflation) और बेरोजगारी (Unemployment) को लेकर मोदी सरकार (Modi Government) के खिलाफ मोर्चा खोल रखा है. शुक्रवार को कांग्रेस ने शुक्रवार को देशव्यापी विरोध-प्रदर्शन (Congress Protes) किया. दिल्ली में सोनिया गांधी (Sonia Gandhi), राहुल गांधी (Rahul Gandhi) और प्रियंका गांधी वाड्रा (Priyanka Gandhi Vadra) समेत कांग्रेस पार्टी के तमाम बड़े नेताओं ने काले कपड़े पहन प्रदर्शन में हिस्सा लिया. कई जगहों पर पुलिस के साथ कांग्रेसियों की झड़प भी हुई. कांग्रेस पार्टी का ये प्रदर्शन ED की कार्रवाई के बीच किया गया. अब आज हम आपको मोदी सरकार और मनमोहन सरकार की तुलना करके महंगाई दर को समझाने वाले हैं, जिससे आपको पता चल जाएगा कि सबसे ज्यादा महंगाई दर कब थी?

इस खबर में ये है खास

  • महंगाई से आम आदमी का बजट बिगड़ा
  • मनमोहन सरकार में थी ज्यादा महंगाई?
  • क्या कहते हैं विश्वबैंक के आंकड़े?
  • कोरोना के बाद भी मोदी ने महंगाई रोकी

महंगाई से आम आदमी का बजट बिगड़ा

कांग्रेस का आरोप है कि मोदी सरकार में अर्थव्यवस्था धरासाई हो चुकी है. महंगाई को काबू करने में सरकार नाकाम है. पेट्रोल-डीजल से लेकर खाने के तेल तक और एलपीजी सिलेंडर से लेकर आटा-चावल तक सभी की कीमतों में इजाफा देखने को मिल रहा है. कांग्रेस पार्टी का आरोप है कि सरकार ने दूध-दही तक पर जीएसटी लगा दी है. वहीं संसद में केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण भी इस पर जवाब दे चुकी हैं. उन्होंने कहा था कि देश में दामों में बढ़ोत्तरी हुई है. लेकिन महंगाई दर अभी भी यूपीए के शासनकाल से कम है.

मनमोहन सरकार में थी ज्यादा महंगाई?

अब सवाल ये है कि मोदी या मनमोहन, सबसे ज्यादा महंगाई किसकी सरकार में रही? सदन में महंगाई पर विपक्ष के सवालों के जवाब देते हुए वित्त मंत्री ने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान देश में महंगाई कुल 9 बार डबल डिजिट में रही थी. उन्होंने बाताया कि यूपीए के शासन में 22 महीने तक खुदरा महंगाई दर 9 फीसदी के ऊपर रही थी. उन्होंने बताया कि देश में जून के महीने में रिटेल महंगाई 7.01 फीसदी रही थी. हम महंगाई को 7 फीसदी से कम रखने की कोशिश कर रहे हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

2024 के लिए बदल रहे हैं समीकरण, देखिए 2014 के बाद कितने दलों ने छोड़ा NDA, कितने आए साथ?

क्या कहते हैं विश्वबैंक के आंकड़े?

2004 में जब मनमोहन सिंह प्रधानमंत्री बने थे, तब देश में महंगाई दर 3.767 फीसदी थी. 2005 में महंगाई दर 4.246, 2006 में 5.797, 2007 में 6.373, 2008 में 8.349, 2009 में 10.882, 2010 में 11.989, 2011 में 8.858, 2012 में 9.312, 2013 में 11.064 और 2014 में 6.65 फीसदी रही. इस तरह देखा जाए तो मनमोहन सिंह के 10 साल के शासन में वाजपेयी के शासनकाल की तुलना में महंगाई न सिर्फ बढ़ी बल्कि इसकी रफ्तार भी बहुत तेज रही. मनमोहन सिंह के शासनकाल में 2009, 2010 और 2013 ऐसे साल रहे जब महंगाई दर 10 से भी ज्यादा रही.

कोरोना के बाद भी मोदी ने महंगाई रोकी

मई 2014 को नरेंद्र मोदी ने देश की सत्ता संभाली थी. विश्वबैंक के आंकड़ों के अनुसार उस वक्त भारत में महंगाई दर 6.65 थी. 2015 में महंगाई दर 4.907, 2016 में 4.948, 2017 में 3.328, 2018 में 3.945, 2019 में 3.723 फीसदी थी. उसके बाद कोरोना आया जिसके कारण 2020 में महंगाई दर 6.623 फीसदी हो गई. जून 2022 में महंगाई दर 7.01 फीसदी दर्ज की गई. मोदी सरकार के अनुसार कोरोना और रूस-यूक्रेन युद्ध के कारण महंगाई बढ़ी है और पूरी दुनिया पर इसका असर हुआ है. हालांकि इसके बाद भी आंकड़ों के अनुसार मोदी सरकार में मनमोहन सरकार की तुलना में महंगाई कम है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

इन फिल्मों को 68वें राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है. ऐसे में अब प्रोड्यूसर भूषण कुमार (Bhushan Kumar) ने अपना आभार व्यक्त...

देश

नई दिल्ली : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्‍यक्ष और उत्‍तर प्रदेश की पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती (Mayawati) ने केंद्र सरकार द्वारा इस्लामी संगठन पॉपुलर...

क्रिकेट

Jasprit Bumrah T20 WC 2022: T20 WC 2022 से पहले टीम इंडिया अपने खिलाड़ियों की चोट से परेशान है. खबर ये आई थी कि...

Advertisement