Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

देश

PFI ने भंग किया संगठन, बैन के बाद कहा- सरकार का फैसला मंजूर, कानून का करेंगे पालन

कांग्रेस, सपा और राजद जैसे तमाम विपक्षी दलों ने इसमें भी धार्मिक एंगल निकाल लिया है. सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने PFI की पैरवी की है. उन्होंने कहा है कि PFI एक पार्टी ही तो है फिर कार्रवाई क्यों हो रही है?

PFI
PFI ने भंग किया संगठन (File Photo)

नई दिल्ली. देश विरोधी गतिविधियों में शामिल पीएफआई (PFI)और उसके सहयोगी 8 संगठनों को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने 5 साल के लिए बैन कर दिया है. सरकार ने पीएफआई और उसके सहयोगी संगठनों को देश के लिए खतरा बताया है. कुछ दिनों पहले ही पीएफआई औऱ उससे जुड़े ठिकानों पर एनआईए समेत कई एजेंसियों ने छापेमारी की थी. इस दौरान 100 से अधिक पीएफआई से जुड़े लोगों को गिफ्तार किया था. सरकार के फैसले के बाद पीएफआई ने संगठन को भंग करने का फैसला किया है.

इस खबर में ये है खास-

  • PFI पांच साल के लिए प्रतिबंधित
  • विपक्ष ने PFI पर शुरू की सियासत
  • विपक्ष ने RRS पर बैन की मांग की

PFI पांच साल के लिए प्रतिबंधित

पीएफआई के केरल राज्य महासचिव अब्दुल सत्तार ने कहा कि सभी PFI सदस्यों और जनता को सूचित किया जाता है कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) को भंग कर दिया गया है. MHA ने PFI पर प्रतिबंध लगाने की अधिसूचना जारी की है, संगठन निर्णय को स्वीकार करता है. मोदी सरकार ने आतंकी गतिविधियों में शामिल होने और आईएसआईएस जैसे आतंकी संगठन से संबंध होने के कारण पीएफआई पर 5 साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया है.

विपक्ष ने PFI पर शुरू की सियासत

सरकार का कदम ऐसे समय में आया है जब कुछ दिनों पहले ही एनआईए समेत कई एजेंसियों ने PFI से जुड़े लोगों पर छापा मारा था. छापेमारी के दौरान पीएफआई से जुड़े 100 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया था. कांग्रेस, सपा और राजद जैसे तमाम विपक्षी दलों ने इसमें भी धार्मिक एंगल निकाल लिया है. सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने PFI की पैरवी की है. उन्होंने कहा है कि PFI एक पार्टी ही तो है फिर कार्रवाई क्यों हो रही है? मोदी सरकार पर हमला करते हुए सपा सांसद ने कहा कि आखिर मुसलमानों को परेशान क्यों किया जा रहा है?

Advertisement. Scroll to continue reading.

विपक्ष ने RRS पर बैन की मांग की

आरजेडी चीफ समेत विपक्ष के कई नेताओं ने आरएसएस पर भी बैन लगाने की मांग की है. केरल से कांग्रेस के लोकसभा सांसद के सुरेश ने PFI और RSS को एक समान बताया. उन्होंने कहा कि PFI पर प्रतिबंध लगाना कोई उपाय नहीं है. हम RSS पर भी प्रतिबंध लगाने की मांग करते हैं. RSS पूरे देश में हिंदू सांप्रदायिकता फैला रहा है. उन्होंने कहा कि PFI और RSS एक समान हैं, इसलिए सरकार को दोनों पर प्रतिबंध लगाना चाहिए.

यह भी पढें- PFI Ban: कैसे ध्वस्त हुआ आतंक का किला, PFI पर प्रतिबंध में है किसका दिमाग? पढ़िए पूरा प्लान

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

राज्य

सपा के लिए मैनपुरी सीट जीतना काफी अहम माना जा रहा है. इसलिए चुनाव से पहले अखिलेश ने चाचा के साथ अपनी पुरानी अदावत...

राज्य

भाजपा ने सपा की परपंरागत सीट रही रामपुर में जीत दर्ज करके आजम खान को बड़ा झटका दे दिया है. रामपुर में बीजेपी की...

Advertisement