Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

J&K: 76वें स्वतंत्रता दिवस पर भी महबूबा मुफ्ती ने उगला जहर, ‘तिरंगा’ को लेकर दिया अलगाववादी बयान

पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) राष्ट्रीय ध्वज ‘तिरंगा’ (National Flag) के खिलाफ जहर उगलने से बाज नहीं आ रही हैं. महबूबा मुफ्ती ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी तिरंगे के प्रति अपनी नफरत बयां की.

Mehbooba Mufti
महबूबा मुफ्ती (File Photo: ANI)

76वें स्वतंत्रता दिवस (76th Independence Day) पर पूरा देश खुशी से झूम रहा है. वहीं जम्मू-कश्मीर में पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) राष्ट्रीय ध्वज ‘तिरंगा’ (National Flag) के खिलाफ जहर उगलने से बाज नहीं आ रही हैं. महबूबा मुफ्ती ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर भी तिरंगे के प्रति अपनी नफरत बयां की. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर उन्होंने एक के बाद एक कई ट्वीट करके भारत सरकार पर निशाना साधा.

इस खबर में ये है खास

  • महबूबा को आर्टिकल-370 हटने का दर्द
  • 'हर घर तिरंगा' पर भी उठाए सवाल
  • तिरंगे को लेकर अलगाववादी बयान
  • महबूबा ने मोदी सरकार को धमकी दी

आर्टिकल-370 हटने का दर्द बरकरार

महबूबा मुफ्ती अभी भी अतीत से निकल नहीं पा रही हैं. वे जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल-370 हटने का गम भुला नहीं पा रही हैं. वे प्रदेश को भारत का अभिन्न हिस्सा बनने की बात को स्वीकार नहीं पा रही हैं. स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीडीपी नेता ने प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की एक तस्वीर को ट्वीट किया. उन्होंने लिखा कि जवाहर लाल नेहरू दो झंडों के बीच खड़े थे, भारतीय राष्ट्रीय ध्वज और जम्मू-कश्मीर राज्य का झंडा, जिसे 1952 में संवैधानिक तौर पर अपनाया गया था और जिस पर बीजेपी के विभाजनकारी एजेंडा को पूरा करने के लिए बुलडोजर चला दिया गया. भारतीय ध्वज का हर आधारभूत मूल्य भी खतरे में है.

‘हर घर तिरंगा’ पर भी उठाए सवाल

महबूबा मुफ्ती ने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा कि जेके प्रशासन बेशर्मी से कश्मीरियों द्वारा भारतीय झंडा फहराने का दावा करता है. सच तो यह है कि उन्हें ऐसा करने की धमकी दी गई या फिर परिणाम भुगतने की धमकी दी गई. विलय के 75 वर्षों के बाद, भारत सरकार ने यहां के लोगों को छद्म और मुद्रीकृत देशभक्ति के अपने रथ में शामिल होने के लिए मजबूर करने के लिए अपनी पूरी ताकत का इस्तेमाल किया.

Advertisement. Scroll to continue reading.

76th Independence Day: लालकिले से भावुक हुए पीएम मोदी, देशवासियों को बताया अपना दर्द

तिरंगे को लेकर अलगाववादी बयान

महबूबा ने एक बार फिर से तिरंगे को लेकर अलगाववादी बयान दिया है. उन्होंने भारत सरकार को धमकी देते हुए कहा कि जम्मू-कश्मीर के लोगों ने अक्टूबर 1947 में कुछ शर्तों के साथ स्वीकार किया था, ऐसा ना हो हम उसे भूल जाएं. उन्होंने लिखा कि ऐसा न हो कि हम भूल जाएं कि जम्मू-कश्मीर के लोगों ने अक्टूबर 1947 में भारतीय ध्वज को स्वीकार किया था लेकिन कुछ शर्तों और संवैधानिक गारंटी के साथ जैसे कि हमारा अपना झंडा होगा और एक अलग संविधान होगा.

महबूबा ने मोदी सरकार को धमकी दी

उन्होंने बीजेपी के वैचारिक अभिभावक RSS ने इसे स्वीकार किया था. उन्होंने लिखा कि जम्मू-कश्मीर प्रशासन बेशर्मी से दावा करता है कि कश्मीरी भारतीय झंडा फहरा रहे हैं. सच तो यह है कि उन्हें ऐसा करने की धमकी दी गई या फिर अंजाम भुगतने की धमकी दी गई.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

टेक-ऑटो

नई दिल्ली : चाइना की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Xiaomi ने अपना नया स्मार्टफोन Civi 2 को लॉन्च कर दिया है. कंपनी द्वारा इस स्मार्टफोन...

बॉलीवुड

Bigg Boss: बिग बॉस एक ऐसा रियलिटी शो है, जो टीआरपी में सबसे आगे रहा है. आगामी 1 अक्टूबर से कलर्स टीवी पर बिग...

क्रिकेट

Australia Team Announced, AUS vs WI: अनुभवी सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और तीन अन्य शीर्ष खिलाड़ी वेस्टइंडीज के खिलाफ दो मैच की सीरीज के...

देश

नई दिल्ली: कर्मचारी चयन आयोग (SSC) ने एसएससी सीजीएल 2022 (SSC CGL) में खाली पदों का नोटिफिकेशन जारी किया है. इन पदों के लिए...

Advertisement