Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

‘आफताब मुझे मार डालेगा, मेरे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा,’ 2020 में ही श्रद्धा ने की थी शिकायत

श्रद्धा ने कहा कि जिस दिन वह पत्र लिख रही थी, उस दिन आफताब ने उसे मारने की कोशिश की और उसने उसे जान से मारने और उसके टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देने की धमकी भी दी. पत्र में उस समय श्रद्धा ने लिखा था कि छह महीने हो गए हैं, वह मुझे मार रहा है.

'आफताब मुझे मार डालेगा, मुझे टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देगा,' 2020 में ही श्रद्धा में की थी शिकायत

नई दिल्ली. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में श्रद्धा वाकर हत्याकांड की कहानी में नया मोड़ सामने आ गया है. एक पत्र सामने आया है, जिसमें श्रद्धा ने कथित तौर पर 2020 में महाराष्ट्र के पालघर के तुलिंज पुलिस स्टेशन शिकायत की थी. श्रद्धा ने यह शिकायत अपने लिव इन पार्टनर आफताब के खिला की थी. श्रद्धा ने शिकायत में कहा था कि आफताब पूनावाला ने पीटा था और जान से मारने की धमकी दी. कथित तौर श्रद्धा का पत्र वसई में उसके पड़ोसी द्वारा साझा किया गया है.

इस खबर में ये है खास-

  • 2020 में पुलिस में दर्ज कराई शिकायत
  • श्रद्धा को पहले भी मारने की कोशिश की
  • आफताब के साथ नहीं रहना चाहती थी श्रद्धा

2020 में पुलिस में दर्ज कराई शिकायत

श्रद्धा उसी के साथ शिकायत दर्ज कराने गई थी. महाराष्ट्र पुलिस ने पुष्टि की है कि मृतक ने 23 नवंबर, 2020 को तुलिंज पुलिस स्टेशन में शिकायती पत्र लिखा था. महाराष्ट्र पुलिस ने भी श्रद्धा के पड़ोसी द्वारा साझा किए गए उक्त शिकायती पत्र की प्रामाणिकता की पुष्टि की है, जिसे श्रद्धा द्वारा लिखा गया बताया जा रहा है. शिकायत पत्र में श्रद्धा ने कहा कि पुलिस के पास जाने की उसके पास हिम्मत नहीं थी, क्योंकि आफताब ने उन्हें जान से मारने की धमकी दी थी.

श्रद्धा को पहले भी मारने की कोशिश की

श्रद्धा ने कहा कि जिस दिन वह पत्र लिख रही थी, उस दिन आफताब ने उसे मारने की कोशिश की और उसने उसे जान से मारने और उसके टुकड़े-टुकड़े करके फेंक देने की धमकी भी दी. पत्र में उस समय श्रद्धा ने लिखा था कि छह महीने हो गए हैं, वह मुझे मार रहा है. पत्र में आगे दावा किया गया है कि आफताब के माता-पिता को पता था कि उसने उसे पीटा और उसने उसे मारने की कोशिश की. पत्र में श्रद्धा ने कहा था कि मैं अभी तक उसके साथ रहती थी, क्योंकि हम जल्द ही किसी भी समय शादी करने वाले थे और उसके परिवार का आशीर्वाद था.

Advertisement. Scroll to continue reading.

आफताब के साथ नहीं रहना चाहती थी श्रद्धा

अब से मैं उसके साथ रहने को तैयार नहीं हूं. इसलिए किसी भी तरह की शारीरिक क्षति को का जिम्मेदार आफताब को माना जाना चाहिए. श्रद्धा ने आगे कहा था कि जब भी वह मुझे कहीं भी देखता है तो मुझे मारने या मुझे चोट पहुंचाने के लिए मुझे ब्लैकमेल कर रहा है. यह पत्र ऐसे समय में सामने आया है, जब ठीक एक दिन पहले यानी मंगलवार को आफताब ने दिल्ली की एक अदालत में कहा था कि उसने श्रद्धा की हत्या गुस्से में की.

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

राज्य

भाजपा ने सपा की परपंरागत सीट रही रामपुर में जीत दर्ज करके आजम खान को बड़ा झटका दे दिया है. रामपुर में बीजेपी की...

देश

NVS Answer Key 2022: नवोदय विद्यालय समिति ने टीजीटी पदों के लिए एनवीएस उत्तर कुंजी 2022 जारी कर दी है. उम्मीदवार जो टीजीटी परीक्षा...

Advertisement