Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

पंजाब में सियासी खेल! AAP विधायकों ने निकाला विरोध मार्च, जानें वजह

पंजाब विधायकों ने विधानसभा का विशेष सत्र आहूत नहीं होने के विरोध में मार्च निकाला

आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायकों ने पंजाब विधानसभा का विशेष सत्र आहूत करने का फैसला वापस लिए जाने के विरोध में बृहस्पतिवार को मार्च निकाला. विधायक लोकतंत्र की हत्या बंद करो और ऑपरेशन लोटस मुर्दाबाद जैसे नारे वाली तख्तियां हाथ में लिए हुए थे. पार्टी ने कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (BJP) पर एक साथ मिले होने और राज्य में विधानसभा का विशेष सत्र नहीं होने देने के लिए मिल कर काम करने का आरोप लगाया.

खबर में खास

  • राज्यपाल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन
  • विशेष सत्र नहीं बुलाना सरासर अन्याय
  • राज्यपाल के इस फैसला का आप विधायकों ने किया विरोध

राज्यपाल के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

विधायकों को राज्यपाल के आवास की ओर बढ़ने से रोक दिया गया. पुलिस ने विधानसभा परिसर से एक किलोमीटर के दायरे में अवरोधक लगा दिए थे. प्रदर्शन कर रहे विधायक रोके जाने पर उसी स्थान पर बैठ गए और उन्होंने कांग्रेस और बीजेपी (BJP) के खिलाफ नारेबाजी की. इस विरोध प्रदर्शन में राज्य का कोई मंत्री नहीं शामिल हुआ. विधायकों ने राज्य विधानसभा का विशेष सत्र आहूत करने का फैसला राज्यपाल द्वारा वापस लिए जाने के लिए उनकी आलोचना की.

विशेष सत्र नहीं बुलाना सरासर अन्याय

विधायक गुरुमीत सिंह खुदियान ने कहा, कि यह (विशेष सत्र नहीं बुलाना) सरासर अन्याय है. राज्य सरकार विधानसभा का सत्र बुला सकती है. उन्होंने आरोप लगाया कि राज्यपाल ने शीर्ष स्तर से निर्देश मिलने पर सत्र को रद्द करने का निर्णय लिया. बीजेपी (BJP) गलत कर रही है और लोकतंत्र खतरे में है. मोगा से विधायक अमनदीप कौर ने पीटीआई से कहा कि पहले सत्र आहूत करने की अनुमति दी गई लेकिन बाद में राज्यपाल ने इसे रद्द कर दिया. मोहाली से विधायक कुलवंत सिंह ने भी राज्यपाल के कदम को लोकतंत्र की हत्या करार दिया.

Advertisement. Scroll to continue reading.

राज्यपाल के इस फैसला का आप विधायकों ने किया विरोध

बता दें कि पंजाब के राज्यपाल बनवारीलाल पुरोहित ने विश्वास प्रस्ताव पेश करने के लिए विधानसभा का विशेष सत्र आहूत करने की आम आदमी पार्टी (AAP) सरकार की योजना को बुधवार को विफल कर दिया. राज्यपाल ने बृहस्पतिवार को विशेष सत्र आहूत करने के पिछले आदेश को वापस लेते हुए कहा कि कांग्रेस और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी (BJP)) ने राजभवन से संपर्क कर कहा था कि सदन के नियमों के अनुसार इसकी अनुमति नहीं है.. राज्यपाल के अनुसार, इसके बाद कानूनी राय मांगी गई और सत्र आयोजित करने का फैसला वापस ले लिय गया.

आप सरकार ने विश्वास प्रस्ताव पेश करने के लिए विशेष सत्र आहूत करने की मांग की थी. इससे कुछ दिन पहले ही ‘आप’ ने बीजेपी (BJP) पर उसकी सरकार गिराने की कोशिश करने का आरोप लगाया था.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement