Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

बिहारः मंत्री कार्तिकेय कुमार को लेकर घिरे नीतीश कुमार, जीतनराम मांझी ने बोला हमला

बता दें कि कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह पर किडनैपिंग का आरोप है. उन्हें इसी मामले में कोर्ट में पेश होना था, लेकिन वे पेश नहीं हुए थे. जिसके कारण कोर्ट ने अब उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया है.

Kartikeya Singh
मंत्री कार्तिकेय कुमार की होगी छुट्टी? (File Photo: ANI)

बिहार सरकार में कानून मंत्री कार्तिकेय कुमार के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी होने से राजनीति गरमा गई है. बीजेपी ने इस बात को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. अब नीतीश कुमार के साथियों ने भी इस पर आवाज उठानी शुरू कर दी है. बता दें कि कानून मंत्री कार्तिकेय सिंह पर किडनैपिंग का आरोप है. उन्हें इसी मामले में कोर्ट में पेश होना था, लेकिन वे पेश नहीं हुए थे. जिसके कारण कोर्ट ने अब उनके खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी कर दिया है.

इस खबर में ये है खास

  • CM नीतीश बोले- जानकारी नहीं है
  • 8 घंटे में देना पड़ा था इस्तीफा- मांझी
  • नीतीश कुमार पर सुशील मोदी का वार

CM नीतीश बोले- जानकारी नहीं है

वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस मामले पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया है. उन्होंने कहा कि उन्हें इस मामले की कोई जानकारी नहीं है. पटना में बुधवार दोपहर एक कार्यक्रम से निकलने बाद जब वे मीडिया से मुखातिब हुए तो उन्हें कार्तिकेय सिंह को लेकर सवाल पूछा गया. तो उन्होंने यह कहकर बात टाल दी कि उन्हें इस केस की कोई जानकारी नहीं है. जिसके बाद महागठबंधन सरकार में सहयोगी हम प्रमुख जीतन राम मांझी ने मुख्यमंत्री पर हमला किया.

8 घंटे में देना पड़ा था इस्तीफा- मांझी

जीतन राम मांझी ने कहा कि हो सकता है कि सरकार को इसके बारे में पता नहीं हो, क्योंकि शायद पता होता तो कार्तिकेय सिंह को शपथ नहीं दिलाई जाती. लेकिन जानकारी होने के बाद भी इस्तीफा नहीं लेने पर उन्होंने नाराजगी जताई. उन्होंने अपना उदाहरण देते हुए कहा कि मेरे खिलाफ सिर्फ मुकदमा दर्ज हुआ था. हम पर वारंट भी नहीं था और उसके बावजूद 8 घंटे के अंदर इस्तीफा देना पड़ा था.

Advertisement. Scroll to continue reading.

बिहारः ‘अब इधर-उधर मत जईअह, सबके लेके चलिह’, नीतीश कुमार को लालू यादव की सलाह

नीतीश कुमार पर सुशील मोदी का वार

बीजेपी के वरिष्ठ नेता सुशील कुमार मोदी ने कहा कि जिस कार्तिक सिंह को हत्या की नीयत से अपहरण के एक मामले में 16 अगस्त को आत्मसमर्पण करना था, उन्हें उसी दिन कानून मंत्री बनाकर नीतीश कुमार ने बिहार में दहशत वाले ‘लालूराज’ की वापसी पक्की कर दी. उन्होंने कहाकि नीतीश कुमार ने कानून की नजर में अभियुक्त व्यक्ति को ही कानून मंत्री बनाकर संविधान और कानून का गला घोंटने की कोशिश की है.

You May Also Like

टेक-ऑटो

नई दिल्ली : चाइना की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Xiaomi ने अपना नया स्मार्टफोन Civi 2 को लॉन्च कर दिया है. कंपनी द्वारा इस स्मार्टफोन...

बॉलीवुड

Bigg Boss: बिग बॉस एक ऐसा रियलिटी शो है, जो टीआरपी में सबसे आगे रहा है. आगामी 1 अक्टूबर से कलर्स टीवी पर बिग...

क्रिकेट

Australia Team Announced, AUS vs WI: अनुभवी सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और तीन अन्य शीर्ष खिलाड़ी वेस्टइंडीज के खिलाफ दो मैच की सीरीज के...

देश

देश में धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा देकर आतंकवाद फैलाने वाले मुस्लिम संगठन PFI पर मोदी सरकार ने 5 साल के लिए बैन लगा दिया...

Advertisement