Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

नीतीश कुमार 2018 में BJP से तोड़ना चाहते थे रिश्ता, पर RJD की तरफ से नहीं मिला था रिस्पांस

PM Modi & Nitish Kumar
PM Modi & Nitish Kumar

नई दिल्ली. बिहार में एक बार फिर से बीजेपी-जदयू गठबंधन टूटता दिखाई दे रहा है. सीएम नीतीश कुमार ने मंगलवार को अपने सभी सांसदों और विधायकों की बैठक बुलाई है. उम्मीद है कि जल्द ही बिहार में जदयू एनडीए से अलग हो जायेगा. नीतीश कुमार आरजेडी, कांग्रेस और लेफ्ट के साथ मिलकर सरकार बनाने जा रहे हैं. नए सियासी घटनाक्रम से साफ हो रहा है कि बिहार में जदयू और राजद के एक बार फिर सरकार बनाने के लिए एक साथ आने की संभावना के बारे में चर्चा जोर पकड़ रही है. यह पहली बार नहीं है जब जदयू का आरजेडी के साथ जाने का प्लान बना था.

इस खबर में ये है खास-

  • 2018 में RJD के साथ नहीं बन पाई थी बात
  • 2014 में बीजेपी से तोड़ा था रिश्ता
  • बीजेपी के खिलाफ बना था महागठबंधन

2018 में RJD के साथ नहीं बन पाई थी बात

2018 में भी दोनों दलों के बीच गठबंधन की कवायद शुरू हई थी हालांकि आपसी विश्वास की कमी, विशेष रूप से जदयू के मुखिया और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की एक अविश्वसनीय सहयोगी की छवि के कारण गठबंधन नहीं चल पाया. बीजेपी के साथ नाराजगी के बीच 2018 में नीतीश कुमार ने आरजेडी के साथ जाने का मन बनाया था. उस समय नीतीश दोनों दलों के साथ आने की संभावना के लिए लालू प्रसाद यादव के नेतृत्व वाले राजद के पास पहुँचे थे.

2014 में बीजेपी से तोड़ा था रिश्ता

नीतीश ने 2015 के बिहार विधानसभा चुनाव से पहले बने जदयू, राजद और कांग्रेस के महागठबंधन या ‘महागठबंधन’ के पुनरुद्धार का प्रस्ताव रखा. नीतीश कुमार ने राजद नेताओं के खिलाफ कथित भ्रष्टाचार के आरोपों पर 2017 में राजद के साथ अपना चुनाव पूर्व गठबंधन समाप्त कर दिया था. इससे पहले 2014 में एनडीए की ओर से नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बनाये जाने का बाद नीतीश कुमार ने विरोध किया था और बीजेपी से रिश्ता तोड़ लिया था.

Advertisement. Scroll to continue reading.

बीजेपी के खिलाफ बना था महागठबंधन

हालांकि बीजेपी के साथ रिश्ता तोड़ने का नीतीश कुमार को खामियाजा भी उठाना पड़ा, लोकसभा चुनाव में जदयू का बेहद ही निराशाजनक प्रदर्शन रहा. इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी के खिलाफ महागठबंधन बना. इस महागठबंधन में जदयू, कांग्रेस और आरजेडी समेत कई पार्टियां शामिल हुई और महागठबंधन को बहुमत मिला, लेकिन ये महागठबंधन ज्यादा दिनों तक नहीं टिक सका. 2 साल में ही में नैतिकता का हवाला देते हुए 2017 में नीतीश कुमार ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया. फिर बीजेपी के साथ मिलकर सीएम बने और अपना कार्यकाल पूरा किया.

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. राजस्थान में सियासी संकट (Rajasthan Congress Crisis) ने कांग्रेस के सामने नई मुसीबत खड़ी कर दी है. राजस्थान कांग्रेस के संकट ने...

टेक-ऑटो

नई दिल्ली : OnePlus कंपनी जल्द भारतीय मार्केट में अपना नया बजट सेगमेंट स्मार्टवॉच लॉन्च करने वाली है. कंपनी इस स्मार्टवॉच को अपनी बहुप्रतिष्ठित...

देश

भारत जोड़ो यात्रा (Bharat Jodo Yatra) के माध्यम से राहुल गांधी कांग्रेस के पक्ष में माहौल बनाने की कोशिश कर रहे हैं. दक्षिण भारत...

विदेश

नई दिल्लीः PM Modi आज जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के राजकीय अंतिम संस्कार में शामिल होने पहुंचे हैं. बता दें कि बुडोकन...

Advertisement