Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

WATCH VIDEO: Delhi-NCR में भारी बारिश, सड़कें बनी समंदर, राजधानी में फंसी बसें

तस्वीर देख लीजिए…जहां सड़के डूबी हुई है और इसके बीच बसें फंस गई…लोग परेशान हो हो गए…यहीं हाल अमूमन बारिश में होता है.

Delhi-Noida Rain Source ANI

नई दिल्ली: सड़कें डूबी हुई…गाड़ियों के पहिये थमे हुए…ये तस्वीर देश का दिल कहे जाने वाली राजधानी दिल्ली की हैं…जहां हल्की बारिश से दिल्लीवासियों की धड़कने बढ़ जाती है…सड़के समंदर बन जाती है…ट्रैफिक जाम हो जाता है…बारिश हुई और दिल्ली पानी-पानी हो जाती है…मधु विहार इलाके की यह तस्वीर देख लीजिए…जहां सड़के डूबी हुई है और इसके बीच बसें फंस गई…लोग परेशान हो हो गए…यहीं हाल अमूमन बारिश में होता है.

दरअसल, राजधानी दिल्ली समेत एनसीआर में शनिवार सुबह से तेज बारिश हो रही है. काले घने बादलों की वजह से सुबह अंधेरा छाया रहा जिसकी वजह से लोगों को गाड़ियों की लाइट जलाकर चलना पड़ा…वहीं, मौसम विभाग ने आज दिल्ली में भारी बारिश का अनुमान जताया है…आईएमडी के अनुसार, शनिवार को बादल छाए रहेंगे… कुछ इलाकों में तेज बारिश की संभावना बनी हुई है.

दिल्ली में भारी बारिश, पारा गिरा
दिल्ली में शनिवार सुबह भारी बारिश के कारण तापमान में गिरावट आई और न्यूनतम तापमान 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. भारत मौसम विज्ञान विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी. सफदरजंग वेधशाला के अनुसार, न्यूनतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 24 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि सापेक्ष आर्द्रता सुबह साढ़े आठ बजे 100 प्रतिशत दर्ज की गयी. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटों में शहर में 97 मिलीमीटर बारिश हुई. मौसम वैज्ञानिकों ने दिन में आंशिक रूप से बादल छाए रहने के साथ ही मध्यम बारिश और गरज के साथ छीटें पड़ने का अनुमान जताया है. शहर में कुछ स्थानों पर भारी बारिश की भी संभावना है. अधिकतम तापमान 31 डिग्री सेल्सियस के आसपास रह सकता है.

दिल्ली में इस महीने की शुरुआत में लगातार दो दिन 100 मिलीमीटर से अधिक की बारिश दर्ज की गयी थी. एक सितंबर को 112.1 मिलीमीटर और दो सितंबर को 117.7 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गयी. अभी तक दिल्ली में इस महीने 248.9 मिलीमीटर बारिश हो चुकी है जो सितंबर के लिए 129.8 मिलीमीटर की औसत बारिश से कहीं अधिक है. दिल्ली में मानसून के 19 साल में सबसे देर से 13 जुलाई को दस्तक देने के बावजूद राजधानी में उस महीने 16 दिन बारिश दर्ज की गयी थी जो पिछले चार वर्षों में सबसे अधिक है.

2003 के बाद सबसे ज्यादा बारिश

Advertisement. Scroll to continue reading.

दिल्ली में बारिश के दिनों में 507.1 मिमी बारिश हुई जो औसत से तकरीबन 141 प्रतिशत अधिक है. जुलाई 2003 के बाद से यह इस महीने में हुई सबसे अधिक बारिश है. राष्ट्रीय राजधानी में शुक्रवार को अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 33.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जबकि न्यूनतम तापमान 25.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

दिल्ली में भारी बारिश से कई इलाकों में जलभराव
नगर निकायों के अनुसार, मोती बाग और आरके पुरम के अलावा मधु विहार, हरी नगर, रोहतक रोड, बदरपुर, सोम विहार, आईपी स्टेशन के समीप रिंग रोड, विकास मार्ग, संगम विहार, महरौली-बदरपुर रोड, पुल प्रह्लादपुर अंडरपास, मुनीरका, राजपुर खुर्द, नांगलोई और किराड़ी समेत अन्य मार्गों पर भी जलभराव देखा गया. लोगों ने सड़कों पर जलभराव की तस्वीरें और वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट किए.

ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक वीडियो में मधु विहार में कथित तौर पर सड़कों में जलभराव दिखाया गया है जिसमें कुछ डीटीसी क्लस्टर बसों को पानी में खड़ा दिखाया गया और अन्य यात्री जलमग्न सड़कों से अपने वाहन को निकालते दिखे. लोक निर्माण विभाग (पीडब्ल्यूडी) के अधिकारियों ने बताया कि सड़कों से पानी की निकासी के लिए कर्मी काम कर रहे हैं. पीडब्ल्यूडी के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘शनिवार तड़के भारी बारिश के कारण कई स्थानों पर जलभराव हुआ. हम प्राथमिकता के आधार पर इस समस्या से निपट रहे हैं. हमारे कर्मचारी स्थिति पर चौबीसों घंटे निगरानी रख रहे हैं.’’

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

देश

नई दिल्ली. देश के 2 राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतगणना हो रही है. गुजरात में एक...

राज्य

अब तक रुझानों के अनुसार एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस और...

देश

गुजरात में एक और 5 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए 63.14 फीसदी वोट डाले गए थे. वहीं हिमाचल में 12 नवंबर को 75.6...

Advertisement