Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

Exclusive Interview: अर्थव्यवस्था की असलियत- किन सेक्टर्स में उछाल, कहां सुधार की जरूरत

भारत की वर्तमान जीडीपी (GDP) के बारे में बात करते हुए राजीव कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण 2 साल देश की अर्थव्यवस्था पर काफी बुरा असर पड़ा. दो साल बाद हम महामारी से हम उबरे हैं.

Exclusive Interview Rajiv Kumar
Exclusive Interview Rajiv Kumar

नई दिल्ली. देश की अर्थव्यवस्था (Indian Economy) को लेकर मोदी सरकार पर अक्सर विपक्षी दल निशाना साधते रहे हैं. कोरोनाकाल के दौरान हमारे देश की नहीं, पूरी दुनिया में भयंकर तबाही देखने को मिली थी. लगभग हर देश की अर्थव्यवस्था पर कोराना महामारी का खासा असर पड़ा था. बेरोजगारी चरम स्तर पर पहुंच गई थी. भारत में तो कोरोना महामारी के दौरान लाखों लोगों के रोजगार छिन गए थे. लॉकडाउन के कारण उद्योग धंधे एकदम से चौपट हो गए. आर्थिक तंगी के कारण लोग सड़क पर आ गए. लाकडॉउन के दौरान एक शहर छोड़कर अपने घर को जा रहे कई लोगों ने रास्ते में दम तोड़ दिया.

इस खबर में ये है खास-

  • महामारी के बाद सुधरी देश की अर्थव्यवस्था
  • 2019 की अपेक्षा 2022 में अच्छी ग्रोथ
  • कंस्ट्रक्शन सेक्टर्स में आया उछाल
  • 25 साल में नई शक्ति के रूप में उभरेगा भारत

महामारी के बाद सुधरी देश की अर्थव्यवस्था

हालांकि जब कोरोना (Corona) महामारी का असर कम हुआ, तो एक बार फिर से देश की अर्थव्यवस्था फिर से पटरी पर लौटनी शुरू हुई. भारतीय अर्थतंत्र की वर्तमान असलियत क्या है. किन-किन सेक्टर्स में उछाल आया है, कहां पर अभी सुधार की जरूरत है, इसके लिए इंडिया अहेड के एडिटर इन चीफ भूपेंद्र चौबे ने नीति आयोग (Niti Aayog) के पूर्व उपाध्यक्ष राजीव कुमार (Rajiv Kumar) से खास बातचीत की. राजीव कुमार तमाम मुद्दों पर सरल शब्दों में स्पष्ट किया.

2019 की अपेक्षा 2022 में अच्छी ग्रोथ

भारत की वर्तमान जीडीपी (GDP) के बारे में बात करते हुए राजीव कुमार ने कहा कि कोरोना महामारी के कारण 2 साल देश की अर्थव्यवस्था पर काफी बुरा असर पड़ा. दो साल बाद हम महामारी से हम उबरे हैं. इस समय हालात यह है कि अप्रैल से जून की तिमाही में 2019 की अप्रैल से जून की तिमाही से करीब 4 फीसदी जीडीपी आगे बढ़ी है. उम्मीद है कि आगे भी देश की अर्थव्यवस्था तेजी के साथ बढ़ेगी.

Advertisement. Scroll to continue reading.

कंस्ट्रक्शन सेक्टर्स में आया उछाल

वहीं 13 फीसदी ग्रोथ रेट के सवाल पर कहा कि यह भारत के लिए रिकवरी है, जोकि एक अच्छा संकेत है. राजीव कुमार ने बताया कि कंस्ट्रक्शन सेक्टर्स में उछाल देखने को मिला है. सेमी स्किल्ड का वर्कर्स का सबसे बड़ा अब्जॉर्ब्शन होता है, वह कंस्ट्रक्शन सेक्टर्स में ही होता है. वहीं इनफार्मल सेक्टर्स में ग्रोथ नहीं हुई है. भारत में अर्थव्यवस्था के सामने जो चुनौती है उसके लिए सकारात्मक कदम उठाए जा रहे हैं, मगर उससे कहीं ठोस कदम उठाने की जरूरत है.

25 साल में नई शक्ति के रूप में उभरेगा भारत

आने 25 साल में भारत एक ऐसे देश के रूप में उभरेगा जो दुनिया के कई देशों को स्किल और टैंलेट देने का काम करेगा. भारत 45 करोड़ के वर्कफोर्स के रूप में जाना जाता है. अगर इसे ठीक से लगा लें, तो आने वाले समय में अच्छी ग्रोथ रेट देखने मिलेगी. हालांकि देश अर्थव्यवस्था इस समय सही से आगे बढ़ रही है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement