Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

गुजरात: 2007 में अमित शाह और नरोत्तम पटेल ने बनाया था यह रिकार्ड, जिसे तोड़ना असंभव?

2007 के विधानसभा चुनाव के बाद गुजरात में 2012 और 2017 में विधानसभा चुनाव हुए. हालांकि 2007 में भाजपा के तीन उम्मीदवारों- अमित शाह, नरोत्तम पटेल और मायाबेन कोडनानी ने रिकॉर्ड मतों के अंतर से चुनाव जीता था, जोकि अब तक नहीं टूटा है.

Amit Shah

नई दिल्ली. गुजरात में विधानसभा चुनाव (Gujarat Assembly Election 2022) के लिए तैयारी जोरों पर हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) से लेकर कांग्रेस के राहुल गांधी (Rahul Gandhi) तक गुजरात चुनाव के महासमर के मैदान में हैं. वहीं आम आदमी पार्टी भी गुजरात में जीत की उम्मीद लिए बड़ी तेजी के साथ प्रचार कर रही है. बीजेपी ने अपने सभी दिग्गज नेताओं को गुजरात में चुनाव प्रचार करने के लिए मैदान में उतार रखा है. वहीं अरविंद केजरीवाल, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान सहित आप के कई नेता गुजरात में डेरा डाले हुए हैं. गुजरात में 182 सीटों पर चुनाव होने हैं. पहले चरण की वोटिंग 1 दिसंबर को तो दूसरे चरण के लिए 5 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे.

इस खबर में ये है खास-

  • अमित शाह - नरोत्तम पटेल का रिकार्ड
  • 2007 में रिकार्ड वोटों से जीते थे दोनों
  • सूरत निर्वाचन क्षेत्र में सबसे कम वोटर
  • अब तक नहीं टूट सका 2007 का रिकार्ड

अमित शाह – नरोत्तम पटेल का रिकार्ड

गुजरात में 2007 के चुनाव में एक ऐसा रिकार्ड बना था, जो आज तक नहीं टूटा सका. आगे भी उस रिकार्ड के टूटने की संभावना कम ही है. हालांकि राजनीति है और राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं होता है. 2007 के गुजरात विधानसभा चुनाव में दो नेताओं ने रिकार्ड वोटों से जीत दर्ज की थी. जोकि आज तक टूट नहीं सका है. उस समय यह ऐतिहासिक रिकार्ड गृहमंत्री अमित शाह और नरोत्तम पटेल ने बनाया था. अमित शाह ने उस समय अहमदाबाद की सरखेज विधानसभा से चुनाव लड़ा था, तो नरोत्तम पटेल ने चोरयासी से मैदान में थे.

2007 में रिकार्ड वोटों से जीते थे दोनों

टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार नरोत्तम पटेल ने 2007 के विधानसभा चुनाव में 3.47 लाख वोटों से जीत दर्ज की थी. वहीं अमित शाह ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी को 2.36 लाख वोटों से हराया था. इसके बाद किसी भी चुनाव में यह रिकार्ड नहीं टूट सका. इस रिकार्ड के न टूटने के पीछे की एक बड़ी वजह रही क्योंकि चोरयासी विधानसभा क्षेत्र में सबसे अधिक 15.94 लाख मतदाता थे, जबकि सरखेज में 10.26 लाख मतदाता थे. 2012 के परिसीमन के बाद राज्य में वर्तमान में 172 निर्वाचन क्षेत्र ऐसे हैं जहां मतदाताओं की आबादी नरोत्तम पटेल की 2007 की जीत के अंतर से कम है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

सूरत निर्वाचन क्षेत्र में सबसे कम वोटर

फिलहाल इस समय चोरयासी सीट पर राज्य में सबसे अधिक 5.65 लाख मतदाता हैं, जबकि सूरत उत्तर में सबसे कम 1.63 लाख मतदाता हैं. गुजरात की 182 सीटों पर मतदाताओं की औसत संख्या 2.70 लाख है. केवल 10 निर्वाचन क्षेत्र ऐसे हैं, जहां पात्र मतदाताओं की संख्या पटेल की 2007 की जीत के अंतर से अधिक है. 2012 में, सरखेज निर्वाचन क्षेत्र को भंग कर दिया गया था और वेजलपुर विधानसभा सीट को बनाने के लिए पास के घाटलोडिया और दसक्रोई निर्वाचन क्षेत्रों में विलय कर दिया गया था. चोरयासी सीट के निर्वाचन क्षेत्र के कुछ हिस्सों को आसन्न विधानसभा सीटों में मिला दिया गया था.

अब तक नहीं टूट सका 2007 का रिकार्ड

हालांकि 2012 में तत्कालीन मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने 1.1 लाख वोटों के अंतर से जीत हासिल की थी. 2017 के चुनाव में उन्होंने पहली बार विधायक और करीबी विश्वासपात्र भूपेंद्र पटेल के लिए सीट खाली कर दी, जो 1.18 लाख वोटों के अंतर से जीते. 2007 के विधानसभा चुनाव के बाद गुजरात में 2012 और 2017 में विधानसभा चुनाव हुए. हालांकि 2007 में भाजपा के तीन उम्मीदवारों- अमित शाह, नरोत्तम पटेल और मायाबेन कोडनानी ने रिकॉर्ड मतों के अंतर से चुनाव जीता था, जोकि अब तक नहीं टूटा है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

राज्य

सपा के लिए मैनपुरी सीट जीतना काफी अहम माना जा रहा है. इसलिए चुनाव से पहले अखिलेश ने चाचा के साथ अपनी पुरानी अदावत...

राज्य

भाजपा ने सपा की परपंरागत सीट रही रामपुर में जीत दर्ज करके आजम खान को बड़ा झटका दे दिया है. रामपुर में बीजेपी की...

Advertisement