Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

जदयू ने बीजेपी के खिलाफ पूरे बिहार में निकाला जुलूस, 5 प्वाइंट में समझें पूरी खबर

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड ने मंगलवार को जुलूस निकाला और लोगों से बीजेपी (BJP) की सांप्रदायिकता की राजनीति से सावधान रहने का आग्रह किया. बिहार की राजधानी पटना में जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह और पार्टी संसदीय बोर्ड के प्रमुख उपेंद्र कुशवाहा ने जदयू के इस सतर्कता एवं जागरूकता मार्च में भाग लिया. चलिए 5 प्वाइंट में समझें पूरी खबर

1. उपेंद्र कुशवाहा ने इस अवसर पर संवाददाताओं से कहा कि हमारे इस मार्च का उद्देश्य लोगों को बीजेपी (BJP) की साजिश के प्रति आगाह करना है. उन्होंने आरोप लगाया कि बीजेपी (BJP) ने सांप्रदायिक विभाजन के लिए एक योजना तैयार की है ताकि आबादी का एक बड़ा वर्ग इसके पक्ष में हो जाए और कुछ भी कल्याणकारी कार्य किए बिना उसे सत्ता में बनाए रखने में मदद करे.

2. मार्च की शुरुआत पटना उच्च न्यायालय परिसर के पास स्थापित बाबासाहेब भीमराव आम्बेडकर की प्रतिमा पर श्रद्धांजलि देने के साथ हुई, जहां से जदयू के हजारों कार्यकर्ता लगभग दो किलोमीटर दूर ऐतिहासिक गांधी मैदान तक गए. जदयू के कार्यकर्ताओं ने कहा कि नीतीश कुमार का कोई विकल्प नहीं है और वह पूरे विपक्ष की धुरी हैं.

3. इस आशंका के बीच कि भगवा पार्टी जदयू को विभाजित करने की कोशिश कर रही है, कुमार ने करीब दो महीने पूर्व बीजेपी (BJP) के साथ गठबंधन तोड लिया था. वहीं बीजेपी (BJP) कुमार पर अपनी महत्वाकांक्षाओं को साकार करने के लिए 2020 के विधानसभा चुनाव के जनादेश के साथ ‘‘विश्वासघात’’ करने का आरोप लगा रही है.

5. खुद को प्रधानमंत्री पद की दौड़ से बाहर बताने वाले कुमार का मानना है कि 2024 के लोकसभा चुनावों में बीजेपी (BJP) को हरा सकते हैं, बीजेपी (BJP) से नाता तोडने के बाद से वह विपक्षी एकता बनाने की कोशिश कर रहे हैं . कांग्रेस नेता सोनिया गांधी के साथ दो दिन पहले उनकी बैठक पर राज्य के बीजेपी (BJP) नेताओं ने कटाक्ष करते हुए कहा था कि कुमार और उनके साथ गए राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद को मात्र 20 मिनट में निपटा कर कमरे से बाहर कर दिया, न इनके साथ फोटो खिंचवाई और न ही उन्हें दरवाजे तक आकर विदा करने के लायक समझा.

5. बीजेपी (BJP) नेताओं के बयानों पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कुशवाहा ने कहा कि बीजेपी (BJP) दूसरों को तस्वीरें जारी करने का आदेश नहीं दे सकती. नीतीश कुमार का सामना करने और सत्ता खोने के बारे में सोचकर हताशा में वे इस तरह की बातें कर रहे हैं. पटना स्थित जदयू राज्य मुख्यालय के अनुसार बिहार के सभी 38 जिलों में इसी तरह के मार्च निकाले गए.

You May Also Like

देश

JEE Main 2023: जेईई मेन 2023 परीक्षा तिथि और पंजीकरण के लिए उम्मीदवार आधिकारिक अपडेट की प्रतीक्षा कर रहे हैं. रिपोर्टों की मानें तो...

कोरोनावायरस

दुनिया पर एक नए वायरस का खतरा मंडराने लगा है. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार फ्रांस के वैज्ञानिकों ने 48,500 साल पुराने जॉम्बी...

स्पोर्ट्स

IND vs AUS Hockey: इंडियन टीम ऑस्ट्रेलिया में चल रही 5 मैचों की हॉकी सीरीज के तीसरे मैच में वर्ल्ड नंबर ऑस्ट्रेलिया को हराकर...

देश

ICAI CA Foundation Admit Card Out: इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया ने आईसीएआई सीए फाउंडेशन दिसंबर एडमिट कार्ड 2022 जारी कर दिया है....

Advertisement