Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

Rajasthan Congress crisis: संकट के बीच दिल्ली पहुंचे अशोक गहलोत, सोनिया गांधी से करेंगे मुलाकात

राजस्थान कांग्रेस में शुरू हुए सियासी संकट पर पार्टी पर्यवेक्षकों ने मंगलवार को सोनिया गांधी को रिपोर्ट सौंपी दी थी. जिसमें उन्होंने ‘घोर अनुशासनहीनता’ के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी तीन नेताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की अनुशंसा की थी.

Ashok Gehlot
CM अशोक गहलोत बोले- कांग्रेस में कोई लड़ाई नहीं है

नई दिल्ली. राजस्थान में मच सियासी बवाल (Rajasthan Congress Crisis0 के बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) दिल्ली पहुंच गए. दिल्ली में वह कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) से मुलाकात करेंगे. राजस्थान कांग्रेस संकट के बाद गहलोत की सोनिया के साथ पहली मुलाकात है. माना जा रहा है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात कर वर्तमान गतिरोध पर विराम लगाने का प्रयास करेंगे. हालांकि, इस संकट के कारण अध्यक्ष पद (Congress President Election) का चुनाव लड़ने की उनकी संभावना को झटका लगा है.

इस खबर में ये है खास-

  • दिग्विजय सिंह लड़ेंगे अध्यक्ष का चुनाव
  • गहलोत गुट के 3 तीन नेताओं को नोटिस
  • चुनाव लड़ने पर आलाकमान लेगा फैसला
  • गहलोत को CM पद से हटाने की थी साजिश

दिग्विजय सिंह लड़ेंगे अध्यक्ष का चुनाव

अब पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) इस चुनाव के लिए नामांकन पत्र दाखिल कर सकते हैं. लोकसभा सदस्य शशि थरूर 30 सितंबर को अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करेंगे. कांग्रेस अध्यक्ष पद के चुनाव (Congress President Election) के लिए 22 सितंबर को जारी की गई. नामांकन पत्र दाखिल करने की प्रक्रिया 24 सितंबर से शुरू हुई, जो 30 सितंबर तक चलेगी. नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तिथि आठ अक्टूबर है. जरूरत पड़ने पर 17 अक्टूबर को मतदान होगा और नतीजे 19 अक्टूबर को घोषित किये जाएंगे.

गहलोत गुट के 3 तीन नेताओं को नोटिस

राजस्थान कांग्रेस में शुरू हुए सियासी संकट पर पार्टी पर्यवेक्षकों ने मंगलवार को सोनिया गांधी को रिपोर्ट सौंपी दी थी. जिसमें उन्होंने ‘घोर अनुशासनहीनता’ के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के करीबी तीन नेताओं के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की अनुशंसा की थी. इसके कुछ देर बाद ही पार्टी की अनुशासनात्मक कार्रवाई समिति की ओर से इन्हें ‘कारण बताओ नोटिस’ जारी कर दिये गये.

Advertisement. Scroll to continue reading.

चुनाव लड़ने पर आलाकमान लेगा फैसला

राजस्थान के कैबिनेट मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने बुधवार को जयपुर में मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद कहा, ‘‘मुख्यमंत्री आज शाम नेतृत्व और संगठन के एक अभिभावक के तौर पर 102 विधायकों की भावना को व्यक्त करने के लिए दिल्ली जा रहे हैं. मुख्यमंत्री अभी इस्तीफा नहीं दे रहे हैं.” उन्होंने कहा कि गहलोत पार्टी अध्यक्ष पद के लिए नामांकन दाखिल करेंगे या नहीं, यह आलाकमान के साथ बैठक के बाद ही स्पष्ट होगा.

गहलोत को CM पद से हटाने की थी साजिश

बता दें कि राजस्थान गहलोत गुट के विधायक सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाए जाने का विरोध कर रहे हैं. इसी सिलसिले में गहलोत गुट 92 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था. साथ गहलोत गुट के नेताओं ने दिल्ली से भेजे गए पर्यवेक्षकों पर गंभीर आरोप लगाया था. अजय माकन निशाना साधते हुए गहलोत गुट के नेता ने कहा कि था अशोक गहलोत को सीएम पद से हटाने की 100 फीसदी साजिश है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

राज्य

सपा के लिए मैनपुरी सीट जीतना काफी अहम माना जा रहा है. इसलिए चुनाव से पहले अखिलेश ने चाचा के साथ अपनी पुरानी अदावत...

राज्य

भाजपा ने सपा की परपंरागत सीट रही रामपुर में जीत दर्ज करके आजम खान को बड़ा झटका दे दिया है. रामपुर में बीजेपी की...

Advertisement