Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

राजस्थान: सोनिया गांधी ने मसला को सुलझाने का दिया निर्देश, एक-एक विधायकों से रातभर बात करेंगे खड़गे और माकन

अशोक गहलोत खेमे के विधायकों को यह मंजूर नहीं है कि राज्य की बागडोर सचिन पायलट के हाथ सौंपी जाए. रविवार को मुख्यमंत्री आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने वाली थी. हालांकि इससे पहले ही नया सियासी उलटफेर देखने को मिला.

Ashok Gehlot-Rahul Gandhi
(File Photo: ANI)

नई दिल्ली. कांग्रेस में पार्टी अध्यक्ष के चुनाव की तैयारियों के बीच राजस्थान में रविवार को बड़ा सियासी उलटफेर देखने को मिला है. राज्य में सचिन पायलट की मुख्यमंत्री के रूप में दावेदारी के विरोध में अशोक गहलोत गुट के 92 विधायकों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया है. एक साथ इतनी संख्या में कांग्रेस विधायकों के इस्तीफे को सचिन पायलट की उड़ान रोकने के लिए अशोक गहलोत की जादूगरी बताया जा रहा है. कांग्रेस आलाकमान ने प्रभारी अजय माकन को फोन करके राजस्थान के मसले को सुलझाने का निर्देश दिया है.

इस खबर में ये है खास-

  • सचिन पायलट को नेतृत्व मंजूर नहीं
  • सोनिया ने संकट पर किया फोन
  • गहलोत गुट के विधायक हुए नाराज

सचिन पायलट को नेतृत्व मंजूर नहीं

अशोक गहलोत खेमे के विधायकों को यह मंजूर नहीं है कि राज्य की बागडोर सचिन पायलट के हाथ सौंपी जाए. रविवार को मुख्यमंत्री आवास पर कांग्रेस विधायक दल की बैठक होने वाली थी. हालांकि इससे पहले ही नया सियासी उलटफेर देखने को मिला. एक साथ गहलोत गुट के 92 विधायकों ने इस्तीफा दे दिया, जिसके बाद विधायक दल की बैठक को रद्द कर दिया गया है.

सोनिया ने संकट पर किया फोन

अब खबर है कि राजस्थान में अचानक बदले सियासी मसले को सुलझाने के लिए कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पर्यवेक्षक मल्लिकार्जुन खड़गे को फोन करके मसला सुलझाने का निर्देश दिया. इसके लिए चाहे पूरी रात ही क्यों न बैठना पड़े. अब इसके बाद प्रभारी अजय माकन ने कहा कि अभी हम दिल्ली नहीं जा रहे हैं. अजय माकन ने कहा कि सोनिया गांधी ने राजस्थान के कांग्रेस विधायकों से बातचीत करने का निर्देश दिया है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

गहलोत गुट के विधायक हुए नाराज

दरअसल में गहलोत के गुट के कांग्रेस नेता खाचरियावास ने कहा कि हमारे विधायकों की मीटिंग हो गई. इस्तीफा देने वाले विधायकों का कहना है कि नए मुख्यमंत्री के चयन के लिए उनकी राय नहीं ली गई है. प्रताप सिंह का कहना है कि सिर्फ 10-15 विधायकों (पायलट गुट) की बात सुनी जा रही है. खाचरिवास ने सचिन पायलट को राजस्थान के सीएम के रूप में दावेदारी का विरोध करके हुए कहा कि हमारी ही सरकार के खिलाफ साजिश रचने वाले को राज्य का नेतृत्व नहीं सौंप सकते हैं. 

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

राज्य

सपा के लिए मैनपुरी सीट जीतना काफी अहम माना जा रहा है. इसलिए चुनाव से पहले अखिलेश ने चाचा के साथ अपनी पुरानी अदावत...

राज्य

भाजपा ने सपा की परपंरागत सीट रही रामपुर में जीत दर्ज करके आजम खान को बड़ा झटका दे दिया है. रामपुर में बीजेपी की...

Advertisement