Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

बथुकम्मा उपहार के रूप में 350 करोड़ खर्च करेगी तेलंगाना सरकार, बालिकाओं को साड़ियां देकर करेगी सम्मान

KCR
केसीआर (File Photo: ANI)

नई दिल्ली: तेलंगाना में बथुकम्मा त्योहार (Bathukamma Festival) की तैयारियां जोरों पर हैं. रविवार से शुरू हो रहे बथुकम्मा त्योहार पर लेकर राज्य सरकार ने भी तैयारी पूरी कर ली है. इस दौरान मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव (CM K. Chandrashekar Rao) ने 350 करोड़ रूपए की लागत से बथुकम्मा उपहार के रूप में विशेष रूप से बनाई गई करोड़ों बथुकम्मा साड़ियों (Bathukamma Sarees) का वितरण करने की घोषणा की है.

खबर में खास
  • सीएम ने दी बधाई
  • 350 करोड़ लागत की साड़ी का वितरण
  • सरकार ने किया इंतजाम
  • 2017 में शुरू हुआ था साड़ी वितरण
  • क्या है बथुकम्मा उत्सव
सीएम ने दी बधाई

इस उपलक्ष्य में मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना राज्य महोत्सव, बथुकम्मा रविवार से शुभारंभ होने के अवसर पर राज्य के लोगों को बधाई दी.

उन्होंने कहा कि गाँवों में एक विशेष उत्साह के साथ इसे मनाया जाता है. बच्चियाँ बथुकम्मा को फूलों से ढँक देती हैं, खेलती हैं और गाती हैं और बथुकम्मा समारोह में भाग लेती हैं. सीएम ने कहा कि नौ दिवसीय महोत्सव के दौरान प्रकृति का उत्सव मनाते हुए प्रदेश भर में विशेष सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा.

350 करोड़ लागत की साड़ी का वितरण

सीएम ने कहा कि 350 करोड़ रूपए की लागत से बथुकम्मा उपहार के रूप में राज्य सरकार द्वारा विशेष रूप से बनाई गई करोड़ों साड़ियां देकर हम करोड़ों बालिकाओं का सम्मान कर रहे हैं. तेलंगाना सरकार ने बथुकम्मा उत्सव को राजकीय उत्सव के रूप में मान्यता देते हुए तेलंगाना की संस्कृति और लड़कियों और लड़कों के स्वाभिमान को बहुत महत्व दिया है.

सरकार ने किया इंतजाम

उन्होंने कहा कि “बथुकम्मा” जो लोगों के जीवन का हिस्सा बन गया है, कई महाद्वीपों में फैल गया है और तेलंगाना की संस्कृति को दुनिया में फैलाया है. सीएम ने कहा कि राज्य सरकार ने बथुकम्मा उत्सव मनाने के लिए सभी इंतजाम किए हैं. सीएम केसीआर ने प्रकृति की देवी बथुकम्मा से राज्य के लोगों को खुशी और अच्छे स्वास्थ्य का आशीर्वाद देने की प्रार्थना की.

2017 में शुरू हुआ था साड़ी वितरण

सरकारी विज्ञप्ति के अनुसार, मुफ्त साड़ी योजना के परिणाम स्वरूप पावरलूम संचालकों को साल भर रोजगार का अवसर मिला. जिसके अनुसार बुनकरों के वेतन में वृद्धि हुई और उनके जीवन स्तर में सुधार हुआ. राज्य सरकार ने बुनकरों की सम्मानजनक आय सुनिश्चित करने और उत्सव के लिए महिलाओं को साड़ी देने के उद्देश्य से 2017 में बथुकम्मा साड़ी वितरण कार्यक्रम शुरू किया था. तेलंगाना सरकार(Telangana Government) ने बीते पांच साल में 4.79 करोड़ बथुकम्मा साड़ी (Bathukamma Sarees) का वितरण किया है.

Advertisement. Scroll to continue reading.
क्या है बथुकम्मा उत्सव

बथुकम्मा तेलंगाना में मनाया जाना वाला एक पुष्प उत्सव है, जिसमें महिलाओं द्वारा फूलों का ढेर लगाया जाता है. बथुकम्मा का शाब्दिक अर्थ है ‘जीवन का त्योहार’. यह त्योहार नारीत्व का प्रतिनिधित्व करता है.

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

देश

नई दिल्ली. देश के 2 राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतगणना हो रही है. गुजरात में एक...

देश

गुजरात में एक और 5 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए 63.14 फीसदी वोट डाले गए थे. वहीं हिमाचल में 12 नवंबर को 75.6...

राज्य

अब तक रुझानों के अनुसार एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस और...

Advertisement