Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

Maharashtra: अमित शाह की चाल से उद्धव की हुई मात, ढाई साल बाद BJP ने पाई कामयाबी

2019 में बीजेपी को एक साथ दो लोगों से धोखा मिला. पहले तो उसके हमसाया रहे उद्धव ने सिर्फ सत्ता के लिए NCP और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर लिया. वहीं NCP नेता अजीत पवार ने भी धोखा दिया, जिसके बाद देवेंद्र फडणवीस से ज्यादा अमित शाह की किरकिरी हुई.

Devendra Fadnavis-Amit Shah
फडणवीस को BJP के हर फैसले की थी जानकारी, PM मोदी के एक फोन ने बदल दिया प्लान (File Photo: ANI)

महाराष्ट्र की राजनीतिक लड़ाई (Maharashtra Political Crisis) में आखिरकार उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) ने फ्लोर टेस्ट से पहले ही सरेंडर कर दिया. उद्धव के सरेंडर के साथ ही बीजेपी (BJP) ने नई सरकार बनाने की गतिविधि को तेज कर दिया है. बता दें कि 2019 में बीजेपी को एक साथ दो लोगों से धोखा मिला. पहले तो उसके हमसाया रहे उद्धव ने सिर्फ सत्ता के लिए NCP और कांग्रेस के साथ गठबंधन कर लिया. वहीं NCP नेता अजीत पवार (Ajit Pawar) ने भी धोखा दिया, जिसके बाद देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) से ज्यादा अमित शाह (Amit Shah) की किरकिरी हुई. बीजेपी ने अब ढाई साल बाद ऐसा दांव खेला कि उद्धव ठाकरे और शरद पवार (Sharad Pawar) दोनों धूल चाटते नजर आए.

इस खबर में ये है खास

  • असली जंग तो शाह-पवार के बीच थी
  • पवार ने उद्धव के मन में लालच पैदा किया
  • शाह ने एक तीर से दो निशाने लगाए
  • शाह के आगे पवार मूकदर्शक बनकर रह गए

असली जंग तो शाह-पवार के बीच थी

महाराष्ट्र की इस सियासी ड्रामे में भले ही सामने देवेंद्र फडणवीस, उद्धव ठाकरे और एकनाथ शिंदे नजर आ रहे हों, लेकिन शह-मात का असली खेल अमित शाह और शरद पवार के बीच चल रहा था. शरद पवार ने जिस चालाकी से बीजेपी के हाथों से सत्ता छीनी थी, उससे अमित शाह की धवि को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ था. मीडिया भी शरद पवार को अमित शाह से ज्यादा बड़ा राजनीतिज्ञ बताने लगा था. सोशल मीडिया पर भी शाह को खूब ट्रोल किया. पवार इससे खुश होकर निश्चिंत हो गए, जबकि शाह एक मंझे हुए खिलाड़ी की तरह एक-एक कदम चले जा रहे थे.

पवार ने उद्धव के मन में लालच पैदा किया

2019 में जनता ने बीजेपी-शिवसेना गठबंधन को चुना था और किसी को भी सरकार बनाने में कोई संदेह नहीं था. लेकिन शरद पवार ने बड़ी चालाकी से इस गठबंधन में दरार डाल दी. उन्होंने उद्धव के मन में मुख्यमंत्री पद का लालच जगा दिया. उद्धव ने भी सीएम पद के लिए वर्षों पुराना रिश्ता तोड़ दिया. जीत के जश्न में डूबी बीजेपी को कुछ भी समझ नहीं आया. पवार की दूसरी चाल में भी बीजेपी का प्रदेश नेतृत्व फंस गई. फडणवीस ने जल्दबाजी में अजीत पवार संग सरकार बना ली. लेकिन ये भी सिर्फ एक छलावा था. फडणवीस की इस गलती के लिए शाह को शर्मिंदा होना पड़ा.

Advertisement. Scroll to continue reading.

शाह ने एक तीर से दो निशाने लगाए

इसके बाद अमित शाह ने प्रदेश के नेतृत्व को बिल्कुल साइलेंट मोड पर डाल दिया और खुद हर मूवमेंट पर नजर रखने लगे. उन्होंने सबसे पहले को हिंदुत्व की राह पर शिवसेना को असहज किया. हर कदम पर उद्धव के नकली हिंदुत्व को उजागर किया. दूसरी ओर एनसीपी नेताओं पर केंद्रीय जांच एजेंसियों का शिकंजा कसता रहा. उद्धव सरकार में एनसीपी के कोटे वाले मंत्रियों के घोटाले सामने आने लगे. एक के बाद एक करके मंत्री जेल जाने लगे. इससे गठबंधन में खलबली मच गई. इसी मौके का फायदा उठाकर उन्होंने हिंदुत्व के आधार पर शिवसेना में सेंध लगा दी.

शाह के आगे पवार मूकदर्शक बनकर रह गए

अमित शाह ने एक बार फिर से साबित कर दिया कि मौजूदा दौर में असली चाणक्य सिर्फ वही हैं. उनकी हर चाल का शरद पवार के पास कोई जवाब नहीं रहा. पवार पूरे गेम को सिर्फ मूकदर्शक बनकर देखते रहे. वहीं उद्धव को एक के बाद एक करके राजनीतिक धप्पड़ लगते रहे. उद्धव से सबसे पहला बदला राज्यसभा चुनाव में लिया गया. यहां 6वीं सीट पर शिवसेना और बीजेपी का उम्मीदवार था. शाह की रणनीति से ही बीजेपी का तीसरा प्रत्याशी राज्यसभा पहुंचा. अगली पटकनी MLC चुनाव में मिली. मौजूदा हालात ऐसे हो गए हैं कि उद्धव के हाथ से शिवसेना भी जा सकती है. शाह के इस पलटवार को उद्धव जीवन भर याद रखेंगे.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

क्रिकेट

दुनिया भर में टी 20 क्रिकेट लीग का क्रेज बढ़ता जा रहा है. IPL की बड़ी सफलता के बाद क्रिकेट खेलने वाले प्रत्येक देश...

क्रिकेट

ZIM vs BAN: जिंबाब्वे ने तीन मैचों की वनडे सीरीज के दूसरे मैच में बांग्लादेश को 5 विकेट से हरा दिया है. जीत के...

स्पोर्ट्स

CWG 2022: भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian women hockey team) ने कॉमनवेल्थ गेम्स 2022 में अपना सफर ब्रांज मेडल के साथ समाप्त किया है....

क्रिकेट

IND vs WI: वेस्टइंडीज के खिलाफ 5 वें और आखिरी टी 20 मुकाबले में भारतीय टीम ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रेयस...

Advertisement