Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

राज्य

UP Election 2022: जब एक साधु के सपने पर ‘मनमोहन सरकार’ ने करवा ली थी अपनी फजीहत

Manmohan and Sonia | Photos: PTI

लखनऊः यूपी चुनाव की आहट सुनाई देते ही सभी पार्टियों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं. राजनीतिक महासंग्राम के सिए महारथी मैदान में कूदने को तैयार हो रहे हैं. हर ओर चुनावी चर्चा शुरू हो चुकी है. इस चुनाव में उन्नाव जिला काफी महत्वपूर्ण होने है. उन्नाव की बात चले और डौंडिया खेड़ा का जिक्र ना हो ये हो नहीं सकता. तो ये किस्सा साल 2013 का है. जब एक साधु ने ऐसा सपना देखा जिसे सच मानकर केंद्र की सरकार ने पूरी दुनिया में अपनी फजीहत करा ली. तो हुआ कुछ यूं था कि ‘शोभन सरकार’ के नाम से मशहूर उन्‍नाव के स्वामी विरक्त आनंद महाराज को एक सपना आया कि उन्नाव के डौंडियाखेड़ा में राजा राव रामबख्श के किले के नीचे तकरीबन 1000 टन सोना छिपा हुआ है.

ये सपना स्थानीय प्रशासन से होते हुए केंद्र तक पहुंचा था. केंद्रीय मंत्री चरणदास महंत ने प्रधानमंत्री, सोनिया गांधी और राहुल गांधी को आनन-फानन में चिट्ठी लिख मारी. बस फिर क्या था जो किला 155 साल से वीरानी से जूझ रहा था, वहां सरकारी अफसरों ने डेरा डाल लिया. जो किला कल तक गुमनाम था उसकी कवरेज करने के लिए देश-विदेश की मीडिया का जमघट लग गया. पुरातत्व विभाग की टीम छेनी-कुदाल लेकर डौंडिया खेड़ा पहुंच गई. 18 अक्टूबर 2013 को सोना निकालने के लिए खुदाई का कार्य शुरू हो गया. दूर-दराज के लोग डौंडिया खेड़ा में तमाशा देखने जमा हो गए थे और खाने-पीने की अस्थायी दुकानों से मेले जैसा माहौल बन गया था.

12 दिन की खुदाई के बाद सोने तो क्या एक फूटी कौड़ी भी हाथ नहीं लगी, लिहाजा ASI ने खुदाई बंद कर दी. सोने की खुदाई को लेकर पहले तेजी दिखाने वाली सरकार ने भी सोना मिलने को लेकर पलटी मार ली थी. संस्कृति मंत्री चंद्रेश कुमारी कटोच ने सरकार का बचाव करते हुए कहा था कि डौंडिया खेड़ा में पुरातत्व विभाग सोना नहीं, बल्कि 1857 में इस्तेमाल हुए पुराने हथियार खोज रहा था. इस गांव को लेकर इतिहासकार तमाम तरह के दावे करते हैं. कुछ लोगों का कहना है कि ये मौर्यवंश काल में राजधानी हुआ करता थी.

तो वहीं राजा राव रामबख्श सिंह के वंशज का कहना है कि इस किले में शुरू में बाहुबली भरों का कब्जा हुआ करता था. भरों से किला जीतने के लिए बैसों ने कई बार कोशिश की, लेकिन असफल रहे. सन 1266 के आस-पास बैसों के राजा करन राय के बेटे सेढूराय ने आखिरकार इस किले को भरों से जीत लिया था. इस किले पर बैसों का कब्जा होने की वजह से यह बैसवारा नाम से चर्चित हुआ और डौंडियाखेड़ा इसकी राजधानी रही.

किले के पश्चिम दिशा में गंगा नदी टीले को छू कर बहती है और किले का मुख्य द्वार पूर्व दिशा की ओर है. इस घटना के बाद अखिलेश सरकार ने इस किले को पर्यटन स्थल के तौर पर विकसित करने की योजना बनाई थी, जोकि फिलहाल पूरी नहीं हो सकी थी. वहीं इस घटना के बाद केंद्र की मनमोहन सरकार का जमकर मजाक उड़ा और अब शोभन सरकार का भी निधन हो चुका है. तो ये घटना बस अब एक कहानी बनकर रह गई है, जो आप अगली पीढ़ी को मजे लेते हुए सुना सकेंगे.

Advertisement. Scroll to continue reading.

उन्नाव में विधानसभा की 6 (बांगरमऊ, सफीपुर, मोहान, उन्नाव, भगवंतनगर औरपुरवा) सीटें आती हैं. पिछले चुनाव में उन्नाव की 6 में से 5 सीटों पर कमल खिला था तो वहीं एक सीट बसपा के खाते में गई थी. जबकि उससे पहले 2007 और 2012 विधानसभा चुनावों में यहां साइकिल दौड़ी थी. 2007 में सपा को जिले की 7 में से 5 और 2012 में 6 में से 5 सीटें मिली थीं. बांगरमऊ विधानसभा क्षेत्र पर बीजेपी के निष्कासित विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी बदलू खां को 28,000 से ज्यादा मतों से हराया था.

आजादी के बाद से अब तक हुए 14 विधानसभा चुनाव में पहली बार ये सीट बीजेपी के खाते में आई थी, लेकिन कुलदीप सिंह बहुत दिनों तक अपने वर्चस्व को बचाकर नहीं रख पाए. नाबालिग लड़की से दुष्कर्म मामले में वो अभी जेल में हैं. कुलदीप सिंह सेंगर जब से दुष्कर्म मामले में जेल गए हैं, विपक्ष योगी सरकार को महिला सुरक्षा के मुद्दे पर घेरने में कोई कसर नहीं छोड़ती है. पिछले चुनाव में मोदी लहर के कारण बीजेपी ने भले ही 5 सीटें जीत ली हों, लेकिन इस बार समीकरण पूरी तरह से बदल चुके हैं.

You May Also Like

राज्य

MCD Results Gautam Gambhir: दिल्ली नगर निगम चुनावों (MCD Elections) में भारतीय जनता पार्टी (BJP) को करारी हार का सामना करना पड़ा है. 15...

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

राज्य

अरविंद केजरीवाल का झाड़ू दिल्ली नगर निगम के चुनाव में भी चल गया. इसी साल पंजाब में विधानसभा चुनाव जीतने वाली आम आदमी पार्टी...

बॉलीवुड

अपनी अनोखी कहानी और दमदार एक्टिंग से डिजिटल प्लेटफार्म पर मशहूर आर्या सीरीज तो आप सबको याद होगी. लोगों ने इस वेब सीरीज और...

Advertisement