Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

विदेश

काबुल में भारतीय दूतावास खुलने से तालिबान खुश, इस बात दिया भरोसा

Afghanistan: अफगानिस्तान में भारतीय दूतावास खोले जाने तालिबान गदगद है. टोलो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, अफगानिस्तान के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल कहार बल्खी ने ट्विटर पर घोषणा की, काबुल में नए ‘फिर से खोले गए’ भारतीय दूतावास से अपने संचालन में रिश्तों में सुधार की उम्मीद है. अब्दुल कहर बल्खी ने एक ट्वीट में कहा, अफगानिस्तान का इस्लामिक अमीरात भारत के इस कदम की सराहना करता है, जो काबुल में अपने दूतावास के राजनयिक प्रतिनिधित्व के स्तर को बढ़ाना चाहता है.

खबर में खास

  • भारतीय दूतावास खुलने से तालिबान गदगद
  • तालिबान सरकार ने सुरक्षा का आश्वासन दिया
  • राजनयिकों का एक दल अफगानिस्तान गया

भारतीय दूतावास खुलने से तालिबान गदगद

अब्दुल कहर बल्खी ने कहा, दूतावास अपने संचालन में तेजी लाएगा क्योंकि जून से तकनीकी टीम पहले से ही वहां तैनात है, जो व्यापार और व्यापार के अवसरों और भोजन और चिकित्सा सहायता के वितरण पर ध्यान केंद्रित कर रही है. अफगान लोगों के साथ भारत के ऐतिहासिक और सभ्यतागत संबंध हैं. हाल ही में एक अन्य भारतीय दल ने अफगानिस्तान को हमारी मानवीय सहायता के वितरण कार्यों की निगरानी के लिए काबुल का दौरा किया और तालिबान के वरिष्ठ सदस्यों से मुलाकात की. दौरे के दौरान सुरक्षा स्थिति का भी जायजा लिया गया.

तालिबान सरकार ने सुरक्षा का आश्वासन दिया

अफगानिस्तान में तालिबान सरकार के विदेश मंत्रालय ने शनिवार को कहा, वह काबुल में भारत की राजनयिक मौजूदगी का स्वागत करता है और साथ ही राजधानी काबुल में भारतीय मिशन की सुरक्षा सुनिश्चित करने का वादा भी करता है. तालिबान ने एक वक्तव्य जारी कर कहा कि अफगानिस्तान में भारत की राजनयिक मौजूदगी के परिणामस्वरूप भारत द्वारा शुरू की गई अधूरी परियोजनाओं को पूरा किया जाएगा और नयी परियोजनाओं की शुरुआत की जाएगी.

Advertisement. Scroll to continue reading.

राजनयिकों का एक दल अफगानिस्तान गया

वहीं, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने शुक्रवार को कहा कि भारतीय राजनयिकों का एक दल अफगानिस्तान गया है और भारत पड़ोसी देश से अपने ऐतिहासिक संबंधों के मद्देनजर लोगों के बीच संबंधों को जारी रखेगा. इस दल में राजदूत शामिल नहीं हैं. जयशंकर ने कहा कि भारतीय राजनयिकों ने पिछले साल अगस्त में अफगानिस्तान के हालात को देखते हुए वहां स्थित दूतावास को छोड़ दिया था और अब राजनयिकों का एक बैच वापस गया है. विदेश मंत्री के अनुसार वहां नियुक्त अफगान कर्मी यथावत हैं और भारत उन्हें वेतन अदा करेगा. बता दें कि अफगानिस्तान में अगस्त 2021 में तालिबान के सत्ता में आने के बाद भारत ने दूतावास से अपने अधिकारियों को वापस बुला लिया था.

You May Also Like

टेक-ऑटो

नई दिल्ली : चाइना की स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Xiaomi ने अपना नया स्मार्टफोन Civi 2 को लॉन्च कर दिया है. कंपनी द्वारा इस स्मार्टफोन...

बॉलीवुड

Bigg Boss: बिग बॉस एक ऐसा रियलिटी शो है, जो टीआरपी में सबसे आगे रहा है. आगामी 1 अक्टूबर से कलर्स टीवी पर बिग...

क्रिकेट

Australia Team Announced, AUS vs WI: अनुभवी सलामी बल्लेबाज डेविड वार्नर और तीन अन्य शीर्ष खिलाड़ी वेस्टइंडीज के खिलाफ दो मैच की सीरीज के...

देश

देश में धार्मिक कट्टरता को बढ़ावा देकर आतंकवाद फैलाने वाले मुस्लिम संगठन PFI पर मोदी सरकार ने 5 साल के लिए बैन लगा दिया...

Advertisement