Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

विदेश

भूकंप से हिला इंडोनेशिया, भर भराकर गिरी इमारतें, अब तक 162 लोगों की गई जान, अस्पतालों में जगह नहीं…

इस बीच, मेट्रो टीवी के फुटेज में दिखाया गया है कि सियानजुर में बिल्डिंगें लगभग पूरी तरह से मलबे में तब्दील हो गई हैं. लोग बाहर ठिकाने की तलाश में हैं. मौसम और भूभौतिकी एजेंसी बीएमकेजी की प्रमुख द्विकोरिता कर्णावती ने लोगों को आफ्टरशॉक्स के मामले में बाहर रहने की सलाह दी.

भूकंप से हिला इंडोनेशिया, भर भराकर गिरी इमारतें

नई दिल्ली. इंडोनेशिया के मुख्य द्वीप जावा में सोमवार को आए भूकंप के तेज झटके ने भारी तबाही मचाई है. एक झटके ने इंडोनेशिया हिला गया. कई इमारते ढह गई. इडोनेशिया में आए भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 162 हो गई है जबकि सैकड़ों लोग घायल हुए हैं. अल जज़ीरा ने बताया कि बचावकर्मी आफ्टरशॉक्स की एक श्रृंखला के बीच मलबे के नीचे फंसे बचे लोगों की तलाश कर रहे हैं. 5.6 तीव्रता के भूकंप का केंद्र राजधानी जकार्ता से लगभग 75 किमी (45 मील) दक्षिण-पूर्व में पहाड़ी पश्चिम जावा में सियांजुर शहर के पास था. यह क्षेत्र 2.5 मिलियन से अधिक लोगों का घर है.

इस खबर में ये है खास-

  • अस्पताल और स्कूल को नुकसान
  • मृतकों में स्कूल के छात्र शामिल
  • भूस्खलन का बना है खतरा
  • इंडोनेशिया भूकंप प्रभावित देश

अस्पताल और स्कूल को नुकसान

झटके ने कई इमारतों को नष्ट कर दिया और पश्चिम जावा के सियानजुर में 10 किमी की गहराई में महसूस किया गया. इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल, एक अस्पताल और अन्य सार्वजनिक सुविधाओं सहित सैकड़ों इमारतें क्षतिग्रस्त हो गईं. मरने वाला की संख्या और भी बढ़ सकती है. अल जज़ीरा ने बताया कि सियानजुर के निवासी ज्यादातर एकल और दो मंजिला इमारतों वाले शहरों में और आसपास के ग्रामीण इलाकों में छोटे घरों में रहते हैं.

मृतकों में स्कूल के छात्र शामिल

पश्चिम जावा के गवर्नर रिदवान कामिल ने कहा कि मृतकों में से कई पब्लिक स्कूल के छात्र हैं, जिन्होंने दिन के लिए अपनी कक्षाएं समाप्त कर ली थीं और कई इस्लामिक स्कूलों में अतिरिक्त शिक्षा ले रहे थे. कामिल ने कहा कि जिन 13,000 से अधिक लोगों के घरों को भारी नुकसान पहुंचा है, उन्हें सुरक्षित जगह पर ले जाया गया है. बताया गया कि 326 से ज्यादा लोग भूकंप के कारण घायल हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

भूस्खलन का बना है खतरा

इस बीच, मेट्रो टीवी के फुटेज में दिखाया गया है कि सियानजुर में बिल्डिंगें लगभग पूरी तरह से मलबे में तब्दील हो गई हैं. लोग बाहर ठिकाने की तलाश में हैं. मौसम और भूभौतिकी एजेंसी बीएमकेजी की प्रमुख द्विकोरिता कर्णावती ने लोगों को आफ्टरशॉक्स के मामले में बाहर रहने की सलाह दी. भूकंप के बाद के दो घंटों में 25 आफ्टरशॉक्स दर्ज किए गए, बीएमकेजी ने बताया, खासकर भारी बारिश की स्थिति में भूस्खलन का खतरा ज्यादा था.

इंडोनेशिया भूकंप प्रभावित देश

कर्णावती ने संवाददाताओं से कहा, “हम लोगों से फिलहाल इमारतों के बाहर रहने का आह्वान करते हैं क्योंकि भूकंप के बाद के झटके भी आ सकते हैं.” 270 मिलियन से अधिक लोगों का देश भूकंप, ज्वालामुखी विस्फोट और सूनामी से अक्सर प्रभावित होता है, क्योंकि यह “रिंग ऑफ फायर” पर स्थित है. फरवरी 2022 में पश्चिम सुमात्रा प्रांत में 6.2 तीव्रता के भूकंप में कम से कम 25 लोगों की मौत हो गई और 460 से अधिक घायल हो गए.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

क्रिकेट

PAK vs ENG: रावलपिंडी में खेले गए पहले टेस्ट में पाकिस्तान को 74 रनों से हराने के बाद इंग्लैंड ने दूसरे में जीत की...

क्रिकेट

Rahul Dravid on Team India loss: इंडियन क्रिकेट टीम इस समय बांग्लादेश के दौरे पर है और तीन वनडे मैचों की सीरीज के पहले...

राज्य

सपा के लिए मैनपुरी सीट जीतना काफी अहम माना जा रहा है. इसलिए चुनाव से पहले अखिलेश ने चाचा के साथ अपनी पुरानी अदावत...

राज्य

भाजपा ने सपा की परपंरागत सीट रही रामपुर में जीत दर्ज करके आजम खान को बड़ा झटका दे दिया है. रामपुर में बीजेपी की...

Advertisement