Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

विदेश

चीन में जल्द ही पढ़ाई शुरू करेंगे स्टूडेंट, राजदूत ने कहा-‘भारतीय छात्रों का स्वागत है’

Chinese Ambassador on Indian students

नई दिल्ली: हजारों भारतीय छात्र (Indian stidents) जो कोविड ​​​​-19 के प्रकोप के बाद चीन से वापस आए थे, उन्हें अब जल्द ही अपनी शिक्षा फिर से शुरू करने का मौका मिल सकता है क्योंकि पहले बैच में ऐसे कई युवा शामिल हैं जो जल्द ही जा सकते हैं. इसकी जानकारी चीनी राजदूत (Chinese Ambassador) सुन वेइदॉन्ग ने दी. उन्होंने कहा, दोनों देशों की सरकारें यह सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम कर रही हैं कि छात्र अपनी शिक्षा पूरी कर सकें.

भारत में चीनी राजदूत (Chinese Ambassador) वेइदॉन्ग ने एएनआई से बात करते हुए कहा, चीन भारतीय छात्रों का स्वागत करता है. निकट भविष्य में चीन में पढ़ाई फिर से शुरू करने के लिए भारतीय छात्रों का पहला बैच. दोनों देशों के संबंधित विभाग एक साथ काम कर रहे हैं. हजारों भारतीय मेडिकल छात्र, COVID-19 वीजा प्रतिबंधों के कारण घर वापस आ गए, चीन लौटने का इंतजार कर रहे हैं.

खबर में खास

  • छात्रों की वापसी की सुविधा में प्रगति
  • विदेश मंत्री एस जयशंकर ने क्या था जानिए

छात्रों की वापसी की सुविधा में प्रगति

चीन ने जुलाई में कहा था कि देश ने भारतीय छात्रों की वापसी की सुविधा में प्रगति की है और यह देखने के लिए संबंधित विभागों के साथ मिलकर काम कर रहा है कि भारतीय छात्रों का पहला बैच जल्द से जल्द चीन में अध्ययन के लिए वापस आ सके. चीनी विश्वविद्यालयों से दवा लेने वाले भारतीय छात्र COVID-19-प्रेरित प्रतिबंधों के कारण कक्षाओं में भाग लेने के लिए चीन नहीं लौट पा रहे हैं.

हम चीन में विदेशी छात्रों की वापसी के लिए गहन रूप से काम कर रहे हैं, जैसा कि आप देख सकते हैं. कुछ विदेशी छात्र अपनी पढ़ाई जारी रखने के लिए पहले ही चीन लौट चुके हैं. भारतीय छात्रों की वापसी के लिए, जैसा कि हमने पहले कहा है, संबंधित विभाग चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने कहा था कि चीन और भारत संपर्क में हैं और इस पर प्रगति की है. दोनों देशों के जिम्मेदार विभाग निकट संपर्क में रहेंगे और भारतीय छात्रों के पहले बैच की जल्द वापसी के लिए काम करेंगे.

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने क्या था जानिए

Advertisement. Scroll to continue reading.

इससे पहले, विदेश मंत्री एस जयशंकर ने जी20 विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर चीनी विदेश मंत्री वांग यी के साथ अपनी बैठक में भारतीय छात्रों की चीन वापसी की प्रक्रिया में तेजी लाने की आवश्यकता पर बल दिया ताकि वे जल्द से जल्द कक्षाओं में भाग ले सकें. भारतीय छात्रों की वापसी की सुविधा के लिए जयशंकर ने 25 मार्च को वांग यी से मुलाकात की. जयशंकर ने मार्च में कहा था कि उन्होंने चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ चीन में पढ़ रहे भारतीय छात्रों की दुर्दशा को दृढ़ता से उठाया, जिन्हें COVID-19 प्रतिबंधों का हवाला देते हुए उस देश में लौटने की अनुमति नहीं है.

जयशंकर ने कहा कि चीनी विदेश मंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया था कि वह चीन लौटने पर संबंधित अधिकारियों से बात करेंगे. मंत्री वांग यी ने मुझे आश्वासन दिया कि वह इस मामले पर संबंधित अधिकारियों से बात करेंगे. उन्होंने विशेष चिंताओं को भी पहचाना कि मेडिकल छात्रों के पास इस कठिन स्थिति में है.

You May Also Like

बॉलीवुड

मॉडल ने पंखे से लटक कर अपनी जान दे दी. मौके से एक सुसाइड नोट मिला है. सुसाइड नोट में लिखा है, मौत के...

बॉलीवुड

मुंबई के अंधेरी इलाके में 30 साल की मॉडल आकांक्षा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. आत्महत्या से पहले आकांक्षा ने सुसाइट नोट में...

देश

नई दिल्लीः भारत में आज शुक्रवार को कोरोना के मामलों में गिरावट देखने को मिली है. पिछले 24 घंटे में कोविड-19 (India Coronavirus Case) के...

बॉलीवुड

खबरों की मानें त ऋचा के हाथ में सजी मेहंदी राजस्थान से आई है. इसके साथ ही मेहंदी सेरेमनी के लिए 5 ऑर्टिस्ट्स को...

Advertisement