Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

विदेश

UNSC में रूस की बड़ी हार, भारत समेत 13 देशों ने नहीं लिया वोटिंग में हिस्सा

रूस-यूक्रेन जंग को लेकर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में एक बार फिर से बैठक हुई. जंग से यूक्रेन में पैदा हुए मानवीय संकट को लेकर मसौदा प्रस्ताव पर सुरक्षा परिषद में बुधवार को हुए मतदान में भारत समेत 13 सदस्य देशों ने हिस्सा नहीं लिया.

UNSC
UNSC (PTI)

नई दिल्लीः रूस और यूक्रेन के बीच एक महीने से युद्ध (Russia-Ukraine War) जारी है. 24 फरवरी को रूसी सेना ने यूक्रेन पर हमला किया था. तब से रूसी सेना लगातार यूक्रेन (Ukraine) के सभी बड़े शहरों को निशाना बनाकर मिसाइलें दाग रही है. रूसी हमलों से यूक्रेन के शहर तबाह हो चुके हैं. वहीं इस मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में एक बार फिर से बैठक हुई. जंग से यूक्रेन में पैदा हुए मानवीय संकट को लेकर मसौदा प्रस्ताव पर सुरक्षा परिषद में बुधवार को हुए मतदान में भारत समेत 13 सदस्य देशों ने हिस्सा नहीं लिया.

इस खबर में ये है खास

  • भारत ने अपनाई तटस्थता नीति
  • किसी के साथ नहीं है भारत
  • जेलेंस्की का हौंसला कायम

भारत ने अपनाई तटस्थता नीति

जंग के एक महीने बाद रूस ने यूक्रेन में मानवीय मदद के लिए प्रस्ताव पेश किया था. प्रस्ताव में रूस ने महिलाओं, बच्चों और मानवीय कर्मियों समेत सभी नागरिकों को सरंक्षित करने, रूस और यूक्रेन के बीच राजनीतिक वार्ता, मध्यस्थता और अन्य शांतिपूर्ण तरीकों से समाधान करने की अपील की थी. हालांकि भारत समेत 15 में से 13 देशों ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया. लेकिन यह पास नहीं हो सका, क्योंकि इसे पास होने के लिए 9 वोट की जरूरत थी. रूस को चीन का साथ जरूर मिला.

किसी के साथ नहीं है भारत

Advertisement. Scroll to continue reading.

UNSC में एक बार फिर से वोटिंग से दूरी बनाकर भारत ने साबित कर दिया कि वो इस युद्ध में किसी के भी साथ नहीं है. इससे पहले पश्चिमी देशों को तरफ से रूस के खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाया गया था, तब भी भारत ने वोटिंग में हिस्सा नहीं लिया था. हालांकि भारत के रुख पर अमेरिका समेत कई NATO देशों ने सवाल उठाया था. अमेरिका ने कहा था कि ये वक्त दूर खड़े होकर सबकुछ देखने का नहीं है. इसमें अपना पाला चुनना ही पड़ेगा. अमेरिका की दलीलों को भी भारत ने अनसुना कर दिया था.

जेलेंस्की का हौंसला कायम

यूक्रेन पर रूसी हमले का एक महीना पूरा हो चुका है. यूक्रेनी सैनिक भले ही संख्या बल में कम हों, लेकिन वे रूसी सैनिकों के सामने डटे हैं. कीव पर विजय के रूसी मंसूबे पूरे नहीं हो सके हैं. यूक्रेन की राजधानी कीव पर रूस लगातार निशाना लगा रहा है, लेकिन वह आज तक कीव को चारों ओर से घेर तक नहीं पाया है. इस बीच यूक्रेन के राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की एक बार फिर से कीव की सड़कों पर निकले और रूस को ललकारा.

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

देश

नई दिल्ली. देश के 2 राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतगणना हो रही है. गुजरात में एक...

राज्य

अब तक रुझानों के अनुसार एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस और...

देश

गुजरात में एक और 5 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए 63.14 फीसदी वोट डाले गए थे. वहीं हिमाचल में 12 नवंबर को 75.6...

Advertisement