Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

विदेश

Ukraine-Russia crisis: रूस का दावा, यूक्रेन के 5 लोगों को मार गिराया

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली: रूस ने सोमवार को एक बड़ा दावा किया और कहा कि उसने यूक्रेन के 5 तोड़फोड़ करने वालों को रूसी क्षेत्र में मार गिराया. ये जानकारी एएनआई ने AFP न्यूज एजेंसी के हवाले से दी है. हालांकि इससे पहले यूक्रेन ने भी कई बार दावा किया है कि रूसी समर्थित अलगाववादियों ने उसके लोगों पर गोलीबारी की है. हालांकि रूस की तरफ से पहली बार कहा गया है कि यूक्रेन की बमबारी में रूस की संघीय सुरक्षा सेवा (एफएसबी) द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सीमा चौकी को नष्ट कर दिया है.

खबर में खास

  • रूसी सैनिकों का जमावड़ा बड़े हमले की तैयारी का संकेत
  • मास्को और पश्चिम के बीच बढ़ रहा तनाव
  • मैंक्रों और पुतिन के बीच करीब दो घंटे की टेलीफोनिक बातचीत हुई थी

रूसी सैनिकों का जमावड़ा बड़े हमले की तैयारी का संकेत
दरअसल पश्चिमी देशों को डर है कि हाल के हफ्तों में यूक्रेन की सीमा के पास रूसी सैनिकों का जमावड़ा बड़े हमले की तैयारी का संकेत है. इन देशों का कहना है कि अगर ऐसा हुआ तो वे मास्को के खिलाफ “बड़े पैमाने पर” प्रतिबंध लगाएंगे. हालांकि रूस आक्रमण की किसी भी योजना से इनकार करता है लेकिन व्यापक सुरक्षा गारंटी चाहता है.

रूसी समाचार एजेंसियों के मुताबिक 21 फरवरी को सुबह यूक्रेन से दागे गए एक अज्ञात प्रक्षेप्य ने रूसी-यूक्रेनी सीमा से लगभग 150 मीटर की दूरी पर रोस्तोव क्षेत्र में FSB सीमा रक्षक सेवा द्वारा इस्तेमाल की जाने वाली सीमा चौकी को पूरी तरह से नष्ट कर दिया.

मास्को और पश्चिम के बीच बढ़ रहा तनाव
यूक्रेन पर रूसी हमले की आशंका और यूक्रेन की सीमाओं के आसपास रूस की सेना के बड़े पैमाने पर जमावड़े को लेकर मास्को और पश्चिम के बीच तनाव हफ्तों से बढ़ रहा है. पश्चिमी खुफिया एजेंसियों का दावा है कि करीब 1.6 लाख रूसी सैनिक यूक्रेन पर हमला करने की तैयारी में हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

यूक्रेन ने यूरोपीय संघ द्वारा रूस के खिलाफ प्रतिबंधों की मांग की है जिससे कि यह दिखाया जा सके कि वह युद्ध को रोकने के लिए गंभीर है. इस बीच, ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने कहा कि 1945 के बाद से रूस यूरोप में सबसे बड़े युद्ध की योजना बना रहा है.

मैंक्रों और पुतिन के बीच करीब दो घंटे की टेलीफोनिक बातचीत हुई थी
रविवार को फ्रांस के राष्ट्रपति मैंक्रों और पुतिन के बीच करीब दो घंटे की टेलीफोनिक बातचीत हुई थी. इसके बाद दोनों नेता यूक्रेन गतिरोध के समाधान की तलाश में तेजी लाने पर सहमत हुए. इस घटनाक्रम के बाद फ्रांस का कहना है कि यूक्रेन संकट पर एक शिखर सम्मेलन के लिए राष्ट्रपति माक्रों के प्रस्ताव को अमेरिकी और रूसी राष्ट्रपतियों ने स्वीकार कर लिया है.

फ्रांसीसी राष्ट्रपति भवन और व्हाइट हाउस द्वारा जारी बयान में कहा गया है कि अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन और उनके रूसी समकक्ष व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन पर अमेरिका-रूस शिखर सम्मेलन में फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमानुएल माक्रों के एक प्रस्ताव पर सहमति जताई थी.

लेकिन इस पहल को झटका देते हुए रूस ने सोमवार को कहा कि रूसी और अमेरिकी राष्ट्रपतियों के बीच एक शिखर सम्मेलन के आयोजन पर चर्चा करना जल्दबाजी होगी. रूस के प्रवक्ता दिमित्री पेसकोव ने संवाददाताओं से कहा, किसी भी प्रकार के शिखर सम्मेलन के आयोजन के लिए किसी विशेष योजना के बारे में बात करना जल्दबाजी होगी.

पेसकोव ने कहा, यह समझ में आता है कि विदेश मंत्रियों के स्तर पर बातचीत जारी रखी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति शिखर सम्मेलन के लिए कोई ठोस योजना नहीं है.

Advertisement. Scroll to continue reading.

You May Also Like

राज्य

नई दिल्ली. गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आज यानी 8 दिसंबर को सुबह 8 बजे से वोटों की गिनती शुरू...

देश

नई दिल्ली. देश के 2 राज्यों में विधानसभा चुनाव के बाद गुरुवार को सुबह 8 बजे से मतगणना हो रही है. गुजरात में एक...

राज्य

अब तक रुझानों के अनुसार एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी राज्य में प्रचंड बहुमत के साथ सरकार बनाने जा रही है. कांग्रेस और...

देश

गुजरात में एक और 5 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के लिए 63.14 फीसदी वोट डाले गए थे. वहीं हिमाचल में 12 नवंबर को 75.6...

Advertisement