Connect with us

Hi, what are you looking for?

[t4b-ticker]

विदेश

UNGA चीफ ने कश्मीर पर पाक को ‘उकसाया’, भारत ने दिया करारा जवाब

पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर द्वारा जम्मू कश्मीर पर दिए गए बयान को भारत की ओर से ‘गुमराह करनेवाला और पूर्वाग्रह से ग्रस्त’ करार दिए जाने के कुछ दिन बाद संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्यीय इस निकाय के प्रमुख की प्रवक्ता ने कहा है कि अफसोसजनक है कि उनका बयान संदर्भ से हटकर देखा गया.

पाकिस्तान में संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष वोल्कन बोजकिर द्वारा जम्मू कश्मीर पर दिए गए बयान को भारत की ओर से ‘गुमराह करनेवाला और पूर्वाग्रह से ग्रस्त’ करार दिए जाने के कुछ दिन बाद संयुक्त राष्ट्र के 193 सदस्यीय इस निकाय के प्रमुख की प्रवक्ता ने कहा है कि अफसोसजनक है कि उनका बयान संदर्भ से हटकर देखा गया.

दरअसल, बोजकिर पिछले महीने के आखिर में बांग्लादेश और पाकिस्तान की यात्रा पर गए थे और उन्होंने कश्मीर मुद्दे की तुलना फलस्तीन के मामले से कर दी थी। इस्लामाबाद में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के साथ संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा था कि जम्मू कश्मीर के मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र में दृढ़ता से लाना पाकिस्तान का दायित्व है.

इसपर भारतीय विदेश मंत्रालय ने कहा था कि बोजकिर का बयान अस्वीकार्य है और भारत के केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर का उनके द्वारा जिक्र करना अवांछनीय है. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने पिछले सप्ताह कहा था कि जब संयुक्त राष्ट्र महासभा के कोई वर्तमान अध्यक्ष गुमराह करनेवाला एवं पूर्वाग्रह से ग्रस्त बयान देते हैं तो वह अपने पद को बड़ा नुकसान पहुंचाते हैं. संयुक्त राष्ट्र महासभा के अध्यक्ष का आचरण वाकई खेदजनक है और वैश्विक पर उनके दर्जे को घटाता है.

इसके बाद मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में महासभा के अध्यक्ष की उप प्रवक्ता एमी कांत्रिल ने कहा कि पाकिस्तान की अपनी यात्रा के दौरान बोजकिर ने कहा था कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र में शांति, स्थिरता एवं समृद्धि पाकिस्तान एवं भारत के बीच संबंधों के सामान्य बनने पर टिकी है और जम्मू कश्मीर मुद्दे के समाधान से ही रिश्ते सामान्य होंगे.

उन्होंने कहा कि संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में अध्यक्ष ने 1972 के भारत-पाकिस्तान शिमला समझौते को भी याद किया था. कांत्रिल ने कहा कि अध्यक्ष भारत के विदेश मंत्रालय के बयान से आहत हैं और खेद की बात है कि उनका बयान संदर्भ से हटकर देखा गया.

Advertisement. Scroll to continue reading.

UNGA चीफ ने क्या कहा था
पाकिस्तानी वेबसाइट डॉन के मुताबिक, कश्मीर मसले को फलस्तीन मुद्दे से तुलना करते हुए यूएनजीए अध्यक्ष बोजकिर ने कहा था कि कश्मीर विवाद के समाधान के लिए बड़ी राजनीतिक इच्छाशक्ति की कमी है. उन्होंने कहा कि मुझे लगता है कि यह पाकिस्तान का विशेष रूप से कर्तव्य है कि वह संयुक्त राष्ट्र के मंच पर इसे (मुद्दे) और अधिक मजबूती से लाए. उन्होंने कहा कि वह इस बात से समहत हैं कि फलस्तीनी मुद्दा और कश्मीर मुद्दा एक ही समय के हैं.

उन्होंने आगे कहा कि मैंने हमेशा सभी पक्षों से जम्मू-कश्मीर की स्थिति बदलने से परहेज करने का आग्रह किया है. उन्होंने कहा कि पाकिस्तान और भारत के बीच संयुक्त राष्ट्र चार्टर और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) के प्रस्तावों के तहत शिमला समझौते में सहमति के अनुसार शांतिपूर्ण तरीकों से समाधान निकाला जाना चाहिए था. बता दें कि बोजकिर का परोक्ष तौर पर इशारा भारत द्वारा अगस्त, 2019 में जम्मू कश्मीर को दो केंद्र शासित प्रदेशों में विभाजित करने के कदम की ओर था.

You May Also Like

बॉलीवुड

इन फिल्मों को 68वें राष्ट्रीय पुरस्कार से भी सम्मानित किया गया है. ऐसे में अब प्रोड्यूसर भूषण कुमार (Bhushan Kumar) ने अपना आभार व्यक्त...

देश

नई दिल्ली : बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्‍यक्ष और उत्‍तर प्रदेश की पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती (Mayawati) ने केंद्र सरकार द्वारा इस्लामी संगठन पॉपुलर...

क्रिकेट

Jasprit Bumrah T20 WC 2022: T20 WC 2022 से पहले टीम इंडिया अपने खिलाड़ियों की चोट से परेशान है. खबर ये आई थी कि...

क्रिकेट

IND vs SA: साउथ अफ्रीका सीरीज के दौरान टीम इंडिया को बड़ा झटका लगा है. तेज गेंदबाज बुमराह बैक प्रॉब्लम की वजह से न...

Advertisement